Avdesh Bhardwaj-  आज के इस दौर में ग्लोबल वार्मिंग तापमान के कारण हमारे वैज्ञानिकों ने भी इतना कह दिया है अब कुछ ही प्रतिशत पानी धरती पर पीने योग्य बचा है और इसमें कोई दो राय भी नहीं है, और एक सभ्य नागरिक होने के बतौर पर हमें यह भी पता है कि जल ही जीवन है
एक प्राथमिक स्कूल में शिक्षा प्राप्त करने वाले दूसरी क्लास के बच्चे व बच्चियों को भी सिखाया जाता है कि नल खुला ना छोड़ें . जल केवल मात्र मनुष्य की ही जरूरत नहीं यह खेत खलियान में फसल के लिए भी जिससे दुनिया अपना अमीर गरीब सब पेट भर्ती है वह जानवरों के लिए भी पीने के लिए नहलाने के लिए घर को साफ करने के लिए प्यास को बुझाने के लिए यहां तक कि बड़े-बड़े मंत्री विश्व के मान्यवर प्रधानमंत्री वह राष्ट्रपति महोदय महोदयजी बी प्लांटेशन करते समय यही संदेश देते हैं पानी बचाओ ताकि नहीं तो भविष्य में हम पौधारोपण करने लायक भी नहीं रहेंगे . वह इतिहास इस बात का गवाह है कि भयंकर बेकाबू आग को भी हमारे दमकल गणमान्य अधिकारियों ने अपनी जान पर भी वह मात्र पानी की सहायता से ही काबू करके आज तक असंख्या जिंदगी या जीवन बचाएं हैं .


परंतु ग्राम पंचायत बरमाना में आए दिन नजारा कुछ और ही देखने को मिलता है क्योंकि यहां पर एसीसी कारखाना है और एसीसी प्रबंधन पानी की सप्लाई पूरे गांव मै कुछ प्रतिशत में करता है वह ग्राम पंचायत बरमाना के प्रधान व सदस्य इसकी टैंक से आगे गांव मैं सप्लाई के लिए उत्तरदाई है परंतु एक टैंक जो जहां एसीसी कारखाना पानी सप्लाई करता है वहां पर आए दिन पानी ओवरफ्लो होकर बाहर गिरता है जो हमारे विश्वा के गणमान्य वैज्ञानिकों व मान्यवर विश्व के प्रतिनिधियों की पानी की आपूर्ति कम होने की चेतावनी को नजर अंदाज करता है
ग्राम वासियों ने बताया कि अगर हम सीएसआर प्रबंधक को बताते हैं तो वह बोलते हैं कि हमने एक आदमी इसके लिए दिया है जिसके लिए पंचायत उत्तर दवाई है हमारा काम सिर्फ पेमेंट करना है पंचायत प्रधान मंजू मनहंस को कॉल करने पर उन्होंने फोन नहीं उठाया परंतु साथ में यह भी प्रश्न उठता है कि टैंक ओवरफ्लो हो रहा है तो इस विकट किसने देखना है यह तो स्थिति में यह किसने देखना है यह पानी तो पीछे से आ रहा है इसे तो ना वो काम करने वाला रोक सकता है ना ग्रामवासी इसके लिए एसीसी प्रबंधन जो इस प्रकार से जल ही जीवन है इस मूल सिद्धांत की धज्जियां उड़ा रही है
[6:28 pm, 27/01/2020] Avdesh Bhardwaj 2: वह दूसरे जितने कुछ भाग में एसीसी प्रबंधन पानी छोड़ता है वहां पर 70% जगह पर पानी की आपूर्ति ना के बराबर है वह मात्र ग्राम पंचायत बरमाना में लगभग 45% हिस्से में एसीसी प्रबंधन पानी की सप्लाई करने का उत्तरदायित्व समझदार समझता ही नहीं .

Leave a Reply