भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप के नाम पर उद्योगपतियों से पैसा ऐंठने वाला आरोपी गिरफ्तार।

हिमाचल बीजेपी अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप के नाम पर उद्योगपतियों से दो लाख रुपए ठगने वाला शख्स पुलिस के हाथ चढ़ गया है। नालागढ़ पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करके मामले की जहां जांच शुरू कर दिया है। वही पुलिस ने आरोपी को नालागढ़ कोर्ट में पेश करने के बाद 4 दिन के रिमांड पर ले लिया है और पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है पुलिस का कहना है कि पूछताछ के दौरान और भी बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।

इस ठग ने दिसंबर 2021 में बद्दी-बरोटीवाला, परवाणु व पांवटा साहिब के उद्योगपतियों को चूना लगाया है। हालांकि, वो बद्दी-बरोटीवाला में अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाया था, लेकिन बद्दी पुलिस चुपचाप ही उसके पीछे थी। बद्दी पुलिस की टीम ने सांसद सुरेश कश्यप बनकर कॉल करने वाले को गुजरात के अहमदाबाद से काबू कर लिया है। फिलहाल पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है पूछताछ के बाद कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

जानकारी के मुताबिक गिरफ्त में आया आरोपी बेहद ही शातिर है। उसने न केवल उत्तर भारत के राज्यों, बल्कि दक्षिण भारत में भी मंत्रियों व ओहदेदारों के नाम पर जालसाजी की है। सूत्रों के मुताबिक बद्दी पुलिस की साइबर टीम आरोपी की गतिविधियों पर नजर रखे हुए थी। चूंकि, बैंक खातों में ट्रांर्जेक्शन हुई थी, लिहाजा पुलिस के पास भी आरोपी के गिरेबान तक पहुंचने के लिए सुराग मौजूद थे। केवल इनके तार जोड़ने में मेहनत करनी थी। गौरतलब है कि आरोपी परवाणु व नालागढ़ में दो उद्योगपतियों से 2 लाख 22 हजार ठगने में कामयाब हो गया था। वो बीजेपी सांसद बनकर उद्योगपतियों को मंदिर निर्माण व भंडारे इत्यादि के लिए एक तय राशि बैंक खाते में डालने की बात करता था।

बद्दी के एक उद्योगपति ने सांसद सुरेश कश्यप से ही क्रॉस चैक कर लिया। जालसाज ने उद्योगपति शिव शर्मा ने 1 लाख 25 हजार की डिमांड की थी। इसी तरह पांवटा साहिब के फार्मा उद्योग से भी भंडारे के लिए 1 लाख 51 हजार की राशि मांगी गई थी। उद्योगपति ने ये राशि ट्रांसफर करने से पहले सांसद को ही कॉल कर ली थी। बद्दी पुलिस ने आईपीसी की धारा-170 के तहत मामला दर्ज किया था।

उधर थाना प्रभारी नालागढ़ व जांच अधिकारी श्याम लाल ने पुष्टि करते हुए कहा है कि पुलिस ने मानपुरा में उद्योग लगाने वाले एक उद्योगपति की शिकायत पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और उसे नालागढ़ कोर्ट में पेश करने के बाद 4 दिन के रिमांड पर लिया है। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है और पूछताछ में और बड़े खुलासे होने की उम्मीद है। उन्होनें कहा कि आरोपी उद्योगपतियों को सांसद सुरेश कश्यप के नाम से फोन करके भंडारों व मंदिरों के निर्माण के लिए पैसे ऐंठता था।