Chief Minister's house is being held in the district, millions of rupees waste of government

जिस उम्र में लोगों को दूसरे के सहारे की जरूरत होती है, उस उम्र में गांव के लिए खड़ी चढ़ाई में सड़क निकालकर 99 साल के इस ‘जवान’ ने मिसाल पेश की है।

चढ़ियार की मझेड़ा पंचायत के लुगट गांव के सरदारी लाल बिना सरकारी सहायता के दो किलोमीटर सड़क निकालकर हिमाचली माउंटेन मैन ‘मांझी’ बने हैं।

गांव के लिए खड़ी चढ़ाई वाली धार में पत्थरों और चट्टानों को काटकर स्वयं करीब एक किलोमीटर सड़क निकाली है। अब सड़क से गांव के 25 परिवार लाभ ले रहे हैं।

सरदारी लाल ने डंगों के निर्माण और पत्थर तोड़ने के लिए मजदूरों को पांच लाख रुपये का भुगतान भी अपनी जेब से किया है।

ढाई साल पहले सरदारी लाल ने सड़क का काम शुरू किया, जिसे उन्होंने करीब पांच माह पहले पूरा कर लिया।

सरदारी लाल 1940 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे, जबकि 15 साल नौकरी करने के बाद वह सेवानिवृत्त हुए। पहले सरदारी लाल को 15 रुपये पेंशन मिलती थी, जो अब बढ़ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here