आयुर्वेदिक अस्पताल में 32.24 लाख के वार्षिक व्यय को दी मंजूरी डीसी की अध्यक्षता में हुई बैठक में आरकेएस ने विभिन्न सुविधाओं के लिए किया प्रावधान।

हमीरपुर 19 मई। जिला आयुर्वेदिक अस्पताल हमीरपुर की रोगी कल्याण समिति की बैठक वीरवार को उपायुक्त देबश्वेता बनिक की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक में समिति के सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए आय-व्यय पर व्यापक चर्चा की तथा अस्पताल में विभिन्न सुविधाओं के विस्तार के लिए लगभग 32,24,500 रुपये के व्यय को मंजूरी प्रदान की।
इस अवसर पर उपायुक्त ने अस्पताल के अधिकारियों को उक्त धनराशि का सदुपयोग करने तथा लोगों को बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिला आयुर्वेदिक अस्पताल में पंचकर्मा और अन्य पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों से उपचार के लिए काफी संख्या में लोग आते हैं। इस वित्त वर्ष के दौरान पंचकर्मा चिकित्सा और अन्य माध्यमों से आरकेएस को लगभग 20 लाख 34 हजार रुपये की आय का अनुमान है। गत वित्त वर्ष की लगभग 47 लाख 23 हजार रुपये की जमा राशि सहित आरकेएस को कुल 67 लाख 57 हजार रुपये की आय का अनुमान है।
बैठक के दौरान समिति ने पंचकर्मा चिकित्सा से संबंधित सामग्री, सर्जरी उपकरणों, प्रयोगशाला उपकरणों एवं रसायनों और अस्पताल की अन्य आवश्यक सामग्री के लिए भी धनराशि का प्रावधान करने का निर्णय लिया। उपायुक्त ने अस्पताल के हॉल को अतिशीघ्र खाली करने के निर्देश भी दिए। बैठक में अस्पताल परिसर में पार्किंग व्यवस्था, अन्य सुविधाओं, भवन की मरम्मत और अन्य कार्यों पर भी विस्तार से चर्चा की गई।
बैठक में जिला आयुर्वेदिक अस्पताल के एमएस डॉ. गगनदीप और वरिष्ठ आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनु बाला ने विभिन्न मुद्दों का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत किया। इस अवसर पर जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ. देशराज वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके अग्रिहोत्री, स्थानीय नगर परिषद अध्यक्ष मनोज मिन्हास, व्यापार मंडल अध्यक्ष अनिल सोनी, समिति के अन्य सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों ने भी महत्वपूर्ण सुझाव रखे।