कर्मचारियों के समर्थन में उतरे बमसन बीडीसी मेंबर।

42 पंचायतों के 23 बीडीसी सदस्यों ने सरकार से हड़ताल खत्म करवाने का आग्रह किया है। बमसन ब्लॉक के पंचायत सचिव, तकनीकी सहायक व अधिकारियों की हड़ताल के सातवे दिन बमसन ब्लॉक के करीब 23 बीडीसी मेंबर इनकी जायज मांगों के समर्थन में उतरे हैं। बीडीसी अध्यक्ष रीना , चंबोह वार्ड की सदस्य पुष्पा के नेतृत्व में आए प्रतिनिधिमंडल ने कर्मचारियों के कलम छोड़ो आंदोलन का समर्थन किया है। उन्होंने जहां एक ओर कर्मचारियों की मांगों का समर्थन किया है, वहीं प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से भी उपरोक्त कर्मचारियों की मांगों पर शीघ्र-अतिशीघ्र विचार-विमर्श करने की अपील की है।

बीडीसी सदस्यों ने ज्ञापन के माध्यम से प्रदेश मुख्यमंत्री को कर्मचारियों व अधिकारियों के हड़ताल पर जाने से प्रभावित हो रहे विकास कार्यों के बारे में अवगत करवाया। ज्ञापन के माध्यम से बताया कि किस तरह पंचायत के काम पूरी तरह से प्रभावित हुए हैं। लोगों को सामान्य प्रमाण पत्र जैसे बीपीएल प्रमाण पत्र, परिवार नकल आदि न मिलने से काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। लोगों को मनरेगा के अंतर्गत काम नहीं मिलने से आम जनता या मनरेगा में काम करने वालों को तो काफी समस्या उठानी पड़ रही है। वहीं समर्थन में आए कुछ और पंचायत प्रधानों का कहना है कि कर्मचारियों का विकास कार्यों को धरातल पर उतारने में बहुत ज्यादा योगदान रहता है। विधित रहे कि बमसन विकास खंड में कई पद पंचायत सचिवों के रिक्त चल रहे हैं, जबकि तकनीकी सहायकों सहित और भी पद रिक्त चले हैं। पंचायत सचिवों, तकनीकी सहायकों व अधिकारियों के हड़ताल पर जाने से पंचायतों के कार्य पूर्ण रूप से बंद हैं। पंचायत प्रधान संघ हिमाचल प्रदेश सरकार से मांग करती है कि शीघ्र-अतिशीघ्र जिला परिषद के कर्मचारियों व अधिकारियों की मांग पर विचार-विमर्श किया जाए, ताकि सामान्य जीवन अस्त-व्यस्त न हो और पंचायतों में रूके विकास कार्य भी सुचारू रूप से चल सकें