ब्यूरो रिपोर्ट – बिलासपुर जिले के गांव स्वाणा निवासी एक युवक शिव कुमाार अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा है। इस वक्त वह न जिंदा है और न ही मुर्दा। परिवार के पास उसका इलाज कराने को पैसा नहीं है। क्योंकि घर का इकलौता कमाने वाला था। ऐसे में युवक के परिजनों को आर्थिक मदद की दरकार है।

बताया जा रहा है कि शिव कुमार पुत्र बनारसी दास परिवार का पालन-पोषण करने को काम की तलाश में दिल्ली गया था। वह आजादपुर सब्जी मंडी में मजदूरी करता था। 23 फरवरी को शिव कुमार काम के दौरान तीसरी मंजिल से गिर गया और उसके सिर में ऐसी चोटी लगी कि वह अब कोमा में चला गया है।

परिजन उसे घर ले आए और अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने उसके इलाज का खर्चा 25 लाख रुपये बताया है। लेकिन परिवार के पास इतने पैसे नहीं हैं। ऐसे में उन्होंने सरकार से और समाजसेवी संस्थाओं से आर्थिक मदद करने की अपील की है।