हरियाणा में काला दिन, 12 घंटे में 4 बड़े हादसे, 9 लोगों की मौत, कई गंभीर।

हरियाणा में आज का दिन काला सोमवार साबित हुआ। 12 घंटे में 4 बड़े हादसे हुए जिसमे 9 लोगों की मौत हो गई और कई लोग गंभीर हालत में अस्पतालों में दाखिल करवाए गए। वहीँ सुसाइड और हत्या जैसे मामले भी सामने आये।
कुरुक्षेत्र कैथल रोड पर टवेरा व आई-10 कार में देर रात जोरदार भिड़ंत हो गई। इस दर्दनाक हादसे में आई-10 कार में सवार युवक और युवती की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि टवेरा गाड़ी में सवार 9 लोगों में से एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं 8 लोग घायल हो गए, जिनमे दो की हालत गंभीर बताई जा रही है। दोपहर तक मृतकों की संख्या 4 हो गई थी।

टवेरा में सवार लोग 9 लोग बुजुर्ग महिला का अंतिम कर्म करके हरिद्वार से वापस पंजाब के पटियाला जा रहे थे। जैसे ही वह गांव कमोदा के पास पहुंचे तो पीछे से आ रही i10 अचानक उनकी गाड़ी के आगे आई और दोनों गाड़ियों में जबरदस्त टक्कर हो गई। हादसे में बच्चे भी घायल है, जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। चार मृतकों में (आई 10 में सवार) शान्ति नगर वासी 40 वर्षीय हरेंद्र मलिक, शास्त्री नगर वासी 35 वर्षीय पिंकी और टवेरा में सवार सुबह सिंह और बूटा राम निवासी गांव खाने वाला पटियाला के रूप में हुई है। पुलिस की कार्रवाई जारी है।

दूसरा हादसा रेवाड़ी जिले में स्थित दिल्ली-जयपुर हाईवे पर हुआ है। हादसे में एक फौजी सहित 2 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि कार का चालक गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे रेवाड़ी के ही निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सोमवार को दोनों मृतकों के शव पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिए गए हैं। जानकारी के अनुसार, राजस्थान के जिला अलवर के गांव गुणसार निवासी राजबीर, नवीन (23) व रुपेन्द्र (23) तीनों इको गाड़ी में सवार होकर किसी काम से बावल औद्योगिक क्षेत्र में आए हुए थे। दिल्ली-जयपुर हाईवे पर असाही फ्लाईओवर से उतरने के बाद वह गाड़ी को सर्विस रोड पर ले गए, तभी पोस्को चौक के पास अचानक उनकी गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो गाड़ी की रफ्तार काफी ज्यादा थी, जिसकी वजह से उनकी गाड़ी सड़क के साथ खड़े पेड़ से टकरा गई। कार को राजबीर चला रह था। एक युवक उसके साथ वाली सीट पर तो दूसरा पीछे बैठा हुआ था। हादसा इतना भीषण था कि गाड़ी के परखच्चे उड़ गए। हादसे में नवीन और रुपेन्द्र की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राजबीर गंभीर रूप से घायल हो गया। एंबुलेंस की मदद से तीनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने दो को मृत घोषित कर दिया। घायल चालक राजबीर का रेवाड़ी के ही एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

तीसरा हादसा झज्जर में बेरी के नजदीक हुआ। खड़े ट्रक में कार की टक्कर हो गई। इस हादसे में कार सवार दंपति व उनके बेटे को गंभीर चोटें आई। राहगीरों ने घायलों को संभाला और उपचार के लिए जिला अस्पताल में ले आए। जहां बुजुर्ग को मृत घोषित कर दिया और उसकी पत्नी व बेटे को रोहतक पीजीआइ रेफर कर दिया। रोहतक पीजीआइ में पहुंचने के बाद चिकित्सकों ने महिला को भी मृत घोषित कर दिया। इस मामले की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची टीम जांच में जुट गई और अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ मामला दर्ज करके कार्रवाई की जा रही है।

चौथा हादसा सिरसा के बड़ागुढा ब्लॉक के गांव भंगू में हुआ। सुबह करीब 5.30 बजे डाट लगी छत गिरने से कमरे में सो रहे पति-पत्नी मलबे में दब गए। लोगों ने जब तक दोनों को मलबे से बाहर निकाला तब तक व्यक्ति की मौत हो चुकी थी। महिला को घायल अवस्था में अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे का शिकार दंपती के तीन लड़के भी इसी कमरे में सो रहे थे लेकिन वह सभी सुबह जल्दी उठकर बाहर काम करने में जुट गए। यही वजह है कि उनकी जान बच गई।

इसके अलावा अलग अलग जगह से कई सुसाइड के मामले भी सामने आये। पानीपत में एक प्रेमी युगल ने ट्रेन के आगे कूद का जान दे दी। दोनों पंजाब के संगरूर जिले के रहने वाले थे और पड़ोसी थे। दोनों एक ही कक्षा में पढ़ते थे। आधार कार्ड के आधार पर परिजनों को सूचित कर दिया गया है। वहीँ बेटे और बहू की मारपीट की वजह से बुजुर्ग महिला ने जहर निगल कर जान दे दी। बेटी की शिकायत पर मामला दर्ज हुआ है। अभी घर से बेटा और बहू फरार हो गए हैं।

वहीँ जींद के दो आत्महत्या के मामले सामने आये हैं। जींद के गांव जाजवान से संदिग्ध हालात में गायब महिला का शव घर के पास ही तालाब से बरामद हुआ है। सूचना पर पहुंची सदर थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। दूसरी तरफ पिल्लूखेड़ा में दादी के अंतिम संस्कार से लौटी महिला की बीती रात संदिग्ध हालात में मौत हो गई। ससुराल पक्ष का कहना था कि महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या की, वहीं मृतका के भाई ने आरोप लगाया कि ससुराल वालों ने उसकी बहन की हत्या कर शव को फांसी के फंदे पर लटकाया है। पिल्लूखेड़ा थाना पुलिस ने मृतका के भाई की शिकायत पर पति समेत चार लोगों के खिलाफ हत्या समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

वहीँ सोनीपत और पानीपत से हत्या के दो मामले भी सामने आये। सोनीपत के सेक्टर 25 में पति ने अपनी आशिकी में रोड़ा बन रही पत्नी की हत्या कर दी वहीँ पानीपत के समालखा के एक युवक को बर्फ तोड़ने वाले सूए से गोद कर हत्या कर दी गई।