बृजकला एकेडमी द्वारा सोलन क्षेत्र के विभिन्न सरकारी स्कूल में से 10 वीं पास की काबिल 21 बालिकाओं को हर साल निशुल्क पढ़ाने की व्यवस्था को वरीयता दी जाएगी।

 

सोलनः-हिमाचल की शिक्षा की दुनिया में कुछ और बेहतरी के लिए एक और अध्याय जुड़ने जा रहा है,

सोलन के नए बस स्टेशन के पास ब्रिज कला एकेडमी, समाज के काम की दुनिया की ज़रूरतों को देखते हुए skill education _ कौशल शिक्षा के क्षेत्र में आजकल की इस्तेमाल होने वाली और आने वाली नई नई तकनीकों को शिक्षा के माध्यम से लेकर आ रहे हैं

अकादमी के माध्यम से कौशल के उन क्षेत्रों में में उभरते हुए नौजवानों को शिक्षित करके अपनी जीविका के लिए समर्थ बनाने के लिए कोशिश करने जा रहे हैं

ब्रिज कला एकेडमी के संस्थापक श्री कैलाश चांदना की यहाँ के निम्न और कमजोर वर्ग की बालिकाओं को समाज में समर्थ स्थान दिलाने की अभिलाषा और इच्छा को ध्यान में रखते हुए यहाँ के सरकारी स्कूलों में 10 वीं पास की काबिल 21 बालिकाओं को हर साल निशुल्क पढ़ाने की व्यवस्था को वरीयता दी जाएगी

 

ब्रिज कला एकेडमी के फाउंडर कैलाश चांदना व क्रिएटिव डायरेक्टर सना चांदना अकादमी की तैयारियों को लेकर और बच्चियों के उज्जवल भविष्य के सहायतार्थ इसकी आधिकारिक सूचना कई गणमान्य लोगों की उपस्तिथि में press conference के माध्यम देंगें।

कैलाश जी का मानना है कि हिमाचल में युवाओं में काम करने का जोश है और यहाँ के लोग खासकर युवा पीढ़ी आत्मसम्मान के साथ अपनी मेहनत से अपनी ज़िंदगी की ज़रूरतें पूरा करने के ख्वाहिश रखते हैं और समर्थ बनना चाहते हैं ,

ब्रिज कला एकेडमी उनकी इस कोशिश में अपना सहयोग करना चाहती है ताकि वह युवाओं को रोजगार देने के साथ ही उन्हें उनके आत्मसम्मान के साथ काबिल बनाना चाहते हैं ताकि वे अपनी योग्यताओं का इस्तेमाल करते हुए खुद के साथ साथ दूसरों के लिए रोजगार उत्पन्न कर सके।

 

ब्रिज कला एकेडमी के फाउंडर कैलाश चांदना ने बताया कि हमारा सोलन व हिमाचल में आने की एक खास वजह यह भी थी कि यहां के सीएम ने पिछले साल एक सरकारी घोषणा मे फिल्म इंडस्ट्री के और फैशन के लोगों को हिमाचल में काम करने का आमंत्रण दिया था और आश्वासन दिया था कि यहाँ पर काम करने के अच्छे और सुविधापूर्ण हालात दिए जाएंगे

और ये एक साधारण सा सच है कि काम करने वालों को सिर्फ सही हालात ही चाहिए होते हैं और वे फिर सभी की बेहतरी के लिए कामों में लग जाते हैं

चीफ मिनिस्टर साहब ने अपनी इच्छा स्पष्ट करते हुए बताया था कि हिमाचल में प्रकृति रिसोर्स बहुत अच्छे हैं यहां पर कलाकारों की भरमार है, और कमी है तो सिर्फ उनको सही दिशा निर्देश देने की।

जब सरकार ही बहुत जागरूक हो तो काम करने की इच्छा अपने से बन ही जाती है और भी इसी विशवास के साथ कैलाश चांदना की टीम और ब्रिज कला एकेडमी यहाँ अपने resources , techniques , capabilities और finance के साथ यहाँ के समाज के साथ जुड़ना चाहती है

ब्रिज कला एकेडमी द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि युवाओं को हर साल वर्क फोर्स में शामिल किया जा सके।

 

अकादमी के इस उद्देश्य के तहत, युवाओं को कंप्यूटर कोडिंग और वीडियो संपादन और अन्य रचनात्मक क्षेत्रों से संबंधित विषयों, फिल्म निर्माण, फिल्म निर्माण, फोटोग्राफी और छायांकन, फैशन डिजाइनिंग, मॉडलिंग, अभिनय, सौंदर्य और मेकअप, ध्वनि इंजीनियरिंग, सोशल मीडिया और मार्केटिंग जैसे क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। ।

ये सब तकनीकें एक समाज को मजबूत बनाने में अहम भूमिका बनाते हैं

समाज और प्रदेश को और मजबूत करने की भावना के साथ bridgekala आप सभी का आपके एक अच्छे सहयोग की उम्मीद के साथ स्वागत करती है