केन्द्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला ने विवेकानंद केन्द्र के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर की उपस्थिति में आज कांगड़ा जिले के केन्द्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला में केन्द्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला और विवेकानंद केन्द्र कन्याकुमारी के मध्य एक समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया गया।
राज्यपाल ने इस महत्वपूर्ण समझौता ज्ञापन पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि हमें स्वामी विवेकानंद की शिक्षाओं और विचारों को समझने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रयास निश्चित रूप से विद्यार्थियों के लिए लाभदायक सिद्ध होंगे।
इस अवसर पर विवेकानंद शिला स्मारक और विवेकानंद केन्द्र के उपाध्यक्ष एवं विशिष्ट अतिथि हनुमंत राव और केन्द्रीय विश्वविद्यालय, धर्मशाला के कुलपति एस.पी. बंसल ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।