एस एम न्यूज़ ब्यूरो- चंबा:-जिला एवं सत्र न्यायधीश चंबा राजेश तोमर की अदालत ने शुक्रवार को एक व्यक्ति को चरस तस्करी के जुर्म में 11 वर्ष के कठोर कारावास

और एक लाख दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि अदा न करने की सूरत में उसे एक वर्ष का अतिरिक्त साधारण कारावास भुगतना होगा।

मामले की पैरवी करते हुए जिला न्यायवादी विजय रेहलिया ने बताया कि 18 दिसंबर, 2016 की शाम को मुख्य आरक्षी कुलदीप चंद की नेतृत्व में पुलिस थाना डलहौजी के दल ने डलहौजी कैंट के पास नाकाबंदी की हुई थी। शाम समय करीब

7.40 बजे डलहौजी की ओर से दो व्यक्ति पैदल आए जिन्होंने अपना नाम मेघनाथ और अनुज बेदी बताया। इसी दौरान सुर्खीगला पकडंडी की ओर से एक और व्यक्ति पैदल आया जोकि पुलिस को देखकर घबराकर वापस लौटने लगा। मुख्य आरक्षी

कुलदीप चंद को उस पर संदेह हुआ और उन्होंने पुलिस दल के साथ कुछ ही दूरी पर उक्त व्यक्ति को धर दबोचा। जब उससे पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम संजय कुमार पुत्र कर्म सिंह निवासी गांव गुरेंट डाकघर मसरूंड तहसील व जिला चंबा

बताया। संजय के हाथ में एक नीले रंग का बैग था। पुलिस ने जब बैग में रखे सा
मान के बारे में उससे पूछताछ की तो वह संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाया। पुलिसकर्मियों ने जब बैग खोला तो उसमें से एक पॉलीथीन का बैग बरामद हुआ

जिसमें एक किलो 200 ग्राम चरस थी। पुलिस ने संजय कुमार के विरुद्ध मादक द्रव्य अधिनियम की धारा 20 के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया था। मामले से जुड़ी छानबीन के उपरांत मामले का चालान बनाकर न्यायालय में पेश किया गया।

माननीय न्यायालय ने शुक्रवार को संजय कुमार को दोषी करार देते हुए उक्त सजा सुनाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here