मुख्यमंत्री ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री पण्डित सुख राम के निधन पर शोक जताया

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने पूर्व केन्द्रीय दूरसंचार मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता पण्डित सुख राम के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है। उन्होंने गत रात्रि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान नई दिल्ली में अन्तिम सांस ली। वह 95 वर्ष के थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पण्डित सुखराम एक महान दूरदर्शी नेता थे, जिन्हें देश में दूरसंचार क्रान्ति के लिए स्मरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पण्डित सुखराम के निधन से देश ने विशेष रूप से हिमाचल ने सदैव नए विचारों और पहलों को बढ़ावा देने वाला एक उत्कृष्ट सांसद खो दिया है।
जय राम ठाकुर ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है।
पंडित सुखराम 1962 में विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए और 1967, 1972, 1974 (उप चुनाव), 1977, 1982, 1998 और 2003 में पुनः चुने गए। वह 1967-72, 1980-85 और 24 मार्च, 1998 से 7 मई, 1998 तक राज्य मंत्रिमण्डल में ऊर्जा, लोक निर्माण विभाग, कृषि, बागवानी, पशुपालन, सिंचाई इत्यादि विभागों के मंत्री रहे।
वह मंडी संसदीय क्षेत्र से 1985, 1991 और 1996 में लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए और विभिन्न विभागों में केन्द्रीय राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया।