मुख्यमंत्री ने कुल्लू में 75 करोड़ रुपये लागत की परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास

10 दिवसीय शिल्प मेले का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कुल्लू के ऐतिहासिक ढालपुर मैदान में केन्द्रीय वस्त्र मंत्रालय, हिमाचल प्रदेश कला एवं संस्कृति विभाग तथा जिला प्रशासन कुल्लू के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित दस दिवसीय शिल्प मेले का शुभारंभ किया। उन्होंने लगभग 75 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के उपरान्त अटल सदन में उपस्थित जनसमूह को संबोधित भी किया। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के दौरान देव परम्परा का निर्वहन करने के लिए नजराने, बजंतरी भत्ता, दूरी भत्ता के रूप में 91 लाख 27 हजार रुपये की धनराशि भंेट की।

मुख्यमंत्री ने कुल्लू में 50 करोड़ रुपये की लागत से नव निर्मित आधुनिक बस अड्डा भवन 2.79 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित तहसील कार्यालय भवन, 56 लाख रुपये की लागत से निर्मित सरवरी में फुट ओवर ब्रिज का लोकार्पण तथा मणीकर्ण घाटी के जरी में उप-तहसील कार्यालय का शुभारंभ किया ।

उन्हांेने बहुतकनीकी महाविद्यालय सेउबाग में 11.41 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित अकादमिक ब्लाक-बी भवन तथा 9.73 करोड़ रुपये से 120 बिस्तरों की क्षमता के छात्रावास के निर्माण कार्य का शिलान्यास भी किया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि भारत कलात्मक प्रतिभा का धनी देश है। देश में हस्त शिल्प व्यवसाय ऐतिहासिक होने के साथ ही राष्ट्र सांस्कृतिक विरासत से भी सम्पन्न है। उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प एक ऐसा श्रम प्रधान व्यवसाय है, जो करोड़ों देशवासियों के लिए रोज़गार के अवसर सृजित कर रहा है, जिससे विषेशतः ग्रामीण क्षेत्रों के लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

उन्होंने छोटे उद्यमियों, व्यापारियों, दस्तकारों, शिल्पकारों और पर्यटन कारोबारियों के लिए शिल्प मेले को लाभदायक बताते हुए कहा कि इस शिल्प मेले में विभिन्न राज्यों के शिल्पकारों के 100 से अधिक स्टॉल तथा स्थानीय स्वयं सहायता समूहों के 20 स्टाल स्थापित लगाए गए हैं। इसके माध्यम से कारीगरों को उनके उत्पाद के विक्रय के लिए बेहतरीन मंच के साथ ही उपभोक्ताओं को विभिन्न कलात्मक और वांछित उत्पादों को खरीदने का अवसर प्रदान किया गया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हस्तशिल्प और हथकरघा क्षेत्र को विकसित करने तथा इस क्षेत्र की समस्याओं का समाधान करने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार बुनकरों को लाभान्वित करने के दृष्टिगत कुल्लू में बुनकर सेवा और डिजाइन रिसोर्स सेंटर खोलने के लिए प्रयासरत है।

उन्होंने वर्तमान सरकार के 5वें बजट को हर वर्ग के लिए कल्याणकारी बताते हुए कहा कि इसमें वृद्वावस्था पेंशन के लिए आयु सीमा 60 वर्ष करने के साथ ही हर वर्ग को मिलने वाली पेंशन की राशि में भी बढ़ोतरी की गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने शिक्षा क्षेत्र को प्राथमिकता देते हुए कक्षा 3 के छात्रों से लेकर शोधार्थियों को उचित छात्रवृति देने का निर्णय लिया है, जिससे विशेष रूप में ग्रामीण इलाकों के मेधावी विद्यार्थियों को लाभ होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वयं सहायता समूहों को अगले वित्त वर्ष से 25 हजार रुपये की एक अतिरिक्त राशि टॉप-अप के रूप में दी जाएगी। स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना व प्रधानमंत्री ज्योति बीमा योजना के तहत सम्मिलित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को राहत देते हुए 60 यूनिट तक बिजली निःशुल्क कर दी है, जिसके तहत हर माह 60 यूनिट तक विद्युत का उपयोग करने वाले घरेलू उपभोक्ताओं से किसी भी तरह का मीटर रेंट, फिक्स्ड चार्ज और एनर्जी चार्ज नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा 125 यूनिट विद्युत इस्तेमाल करने पर भी एक रुपया प्रति यूनिट की दर से एनर्जी चार्ज लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों को 50 पैसे प्रति यूनिट के स्थान पर 30 पैसे प्रति यूनिट विद्युत प्रदान की।

उन्होंने देव समाज से जुड़े लोगों का नशे के उन्मूलन तथा स्वच्छता अभियान जैसे सामाजिक कार्याे में सहयोग देने का आहवान किया तथा कहा कि वे समाज सेवा में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार का लगभग आधा कार्यकाल कोविड प्रबंधन में गुजरने के बाद भी प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में विकास गतिमान रहा है तथा कोविड जैसे संकट में भी जमीनी स्तर पर विकास हुआ।

इस अवसर पर शिक्षा, भाषा एवं संस्कृति मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने जिला कुल्लू में किए गए करोड़ों रुपये की परियोजनाओं के लोकापर्ण व शिलान्यास के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पर्यटन की दृष्टि से विश्व मानचित्र पर विख्यात इस स्थान पर अत्याधुनिक बस अड्डे की अनिवार्य व वांछित मांग थी।

उन्होंने कहा कि कुल्लू में 50 करोड़ रुपये की लागत से आधुनिक बस अड्डा के बनने से यहां बस पार्किंग के साथ ही कुल्लू-मनाली आने वाले देशी व विदेशी पर्यटकों और स्थानीय लोगों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि सरवरी में निर्मित फुट ओवर ब्रिज से लोगों को सड़क पार करने की बेहतर व सुरक्षित सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि मणिकर्ण घाटी के जरी में उप-तहसील कार्यालय खोलने से घाटी के 7 पटवार वत्तों के लोगों के साथ कुल्लू जिला के मलाणा गांव के लोगों को राजस्व व संबंधित कार्य को करवाने की सुविधा घर के समीप ही उपलब्ध होगी।

इस मौके पर पूर्व सांसद व विधायक महेश्वर सिंह, विधायक बंजार सुरेन्द्र शौरी तथा कारदार संघ के अध्यक्ष दोत राम ठाकुर ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

इस अवसर पर एचपीएमसी के उपाध्यक्ष राम सिंह, एपीएमसी के सलाहकार रमेश शर्मा, ब्रिगेडियर, (सेवानिवृत) खुशाल ठाकुर, भाजपा महामंत्री टी.सी. महंत, भाजपा जिला अध्यक्ष भीम सेन, राष्ट्रीय जनजाति मोर्चा के उपाध्यक्ष युव राज बौद्ध तथा जिला भाजपा के विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी, उपायुक्त आशुतोष गर्ग, पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा, नगर परिषद व नगर पंचायत के प्रतिनिधि और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।