25 मार्च 2019,हिमाचल प्रदेश:सांसद श्री अनुराग ठाकुर ने कांग्रेस पार्टी पर भ्रामक प्रचार व झूठे कैंपेंन द्वारा देश को गुमराह करने का प्रयास करने की बात कहते हुए कांग्रेस का असली चेहरा बेनक़ाब होने की बात  कही है।
श्री अनुराग ठाकुर ने कहा”कांग्रेस पार्टी झूठ की ठेकेदार है जिसमें इनके केंद्रीय नेतृत्व से लेकर स्थानीय नेता शामिल हैं।इनके नेताओं ने कई भ्रामक प्रचार व झूठे कैंपेंनों के ज़रिए देश की एकता और अखंडता को चोट पहुँचाते हुए लोगों को गुमराह करने का प्रयास किया है।
हिंदू आतंकवाद का शातिर सिद्धांत यूपीए के शासनकाल में गढ़ा गया और इसे बढ़ाने का काम उस वक्त के कांग्रेसी मंत्रियों और नेताओं ने किया।यह सिद्धांत जिहादी आतंकवाद से ध्यान हटाने के लिए गढ़ा गया था।यह साजिश आतंकवाद पर भारत के उदार प्रवृत्ति वाले बहुसंख्यक लोगों को एक बुरा नाम देने के लिए रची गई थी मगर हाल ही में एनआईए कोर्ट ने स्वामी असीमानंद को समझौता एक्सप्रेस केस से बरी कर कांग्रेस के इस झूठे अभियान की पोल खोल कर उसे बेनक़ाब करने का काम किया है”
आगे बोलते हुए श्री अनुराग ठाकुर ने कहा”इसी तरह कांग्रेस सरकार में धोखा धड़ी कर बैंकों से पैसा हड़प कर  विदेश भागने वाले नीरव मोदी पर मोदी सरकार ने कड़ी कार्यवाही करते हुए जहाँ एक तरफ़ देश के अंदर उसकी उसकी सम्पत्तियों को ज़ब्त करने का काम किया है वहीं दूसरी तरफ़ ब्रिटेन की सरकार पर दबाव बना कर उसे गिरफ़्तार करवाया।उसके खिलाफ एक मजबूत मामला चल रहा है और जल्द ही उसे भारत वापस लाया जाएगा।देश और संस्थानों को नुक़सान पहुँचाने वालों के खिलाफ मोदी सरकार की ज़ीरो टॉलरेंस की नीति रही है”
श्री अनुराग ठाकुर ने कहा”साल 2001 में गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस में आग पूरे राज्य में सामाजिक और सांप्रदायिक सदभाव को तनाव में बदलने के लिए लगाई गई थी।इस केस के आरोपियों को पहचान लिया गया था और उनके खिलाफ कई सबूत भी मौजूद थे।
आरोपियों को अलग-अलग समय पर पकड़ा भी गया।इनपर चार्जशीट भी हुए और इनके जमानत की अर्जी को सुप्रीम कोर्ट तक ने खारिज कर दिया।कुछ दिन पहले ही कोर्ट ने सभी सबूतों को खारिज करते हुए एक और आरोपी को दोषी ठहरा दिया।इसके बावजूद कांग्रेस पार्टी झूठे अभियानों और बयानों के ज़रिए देश को भ्रमित करने के लिए प्रयास करती रही है मगर न्यायपालिका ने कांग्रेस को के झूठे अभियानों की हवा निकालते हुए उसका असली चेहरा देश के सामने उजागर किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here