राजधानी में क्राइम का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। फिरौती के लिए पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी इलाके से अगवा की गई 9 वर्षीय बच्चे का शव घटना के 4 दिन बाद शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में मिला है। इस मामले में अब दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल खिचड़ीपुर पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिली। उन्होंने कहा कि अन्याय के खिलाफ इस जंग में वो पीड़ित परिवार के साथ हैं। वहीं बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे और मामले में न्याय की मांग की।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
पुलिस ने इस मामले में बच्ची के पड़ोस में रहने वाले मृतक की मौसी के बेटे और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में जानी उर्फ शिवा, नरेश, कैलाश व तरुण हैं। आरोपियों ने बताया कि बच्ची को फिरौती मांगने की मंशा से अगवा किया था, लेकिन पकड़े जाने के डर से उन्होंने उसकी हत्या कर दी। जानी व कैलाश खिचड़ीपुर और नरेश व तरुण तिबड़ा गांव के रहने वाले हैं। जांच में सामने आया है जानी पर उत्तर प्रदेश में हत्या का एक मुकदमा दर्ज है।

मुख्य आरोपी मृतका की मौसी का बेटा
बच्ची को अगवा करने की साजिश रचने वाला मुख्य आरोपी जानी उर्फ शिवा मृतका की मौसी का बेटा है। जानी ने नरेश के साथ मिलकर अपनी इको कार से पड़ोस में रहने वाली बच्ची को कार में घुमाने का लालच देकर अगवा किया था। आरोपियों की मंशा फिरौती मांगने की थी। पकड़े जाने के डर से चारों ने तिबड़ा गांव के खेतों में ले जाकर लोहे की रॉड से वार कर बच्ची की हत्या कर दी।

सीसीटीवी में कैद हो गया था बच्चे को ले जा रहा जानी
कल्याण पुरी थाना पुलिस ने बच्ची के परिजनों की शिकायत के आधार पर अपहरण का मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज का खंगाली तो पता चला जानी अपनी कार से बच्ची को ले जा रहा है। पुलिस उसके घर गई तो वह घर पर नहीं था।

गुस्साए परिजनों और स्थानीय लोगों ने NH-9 किया जाम
शव मिलने से गुस्साए स्वजन तथा स्थानीय लोगों ने मिलकर कल्याणपुरी थाने के बाहर और NH-9 को जाम कर प्रदर्शन किया। जिला वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के समझाने पर और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन देने के बाद गुस्साए लोग सड़क से हटे।