देश की राजधानी में कोरोना संक्रमण के चरम पर पहुंचने के बाद दिल्ली सरकार ने सोमवार रात दस बजे से छह दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ बैठक करने के बाद लॉकडाउन का ऐलान किया। लॉकडाउन की खबर मिलते ही शराब के शौकीनों का तो जैसे चैन ही छिन गया। फौरन नजदीकी ठेके की तरफ दौड़ पड़े। कई जगह दुकानों के बाहर लंबी-लंबी कतारें देखने को मिलीं।

कुछ दुकानों पर सोशल डिस्टेसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ती नजर आईं। दिल्ली के खान मार्केट स्थित शराब की इस दुकान के बाहर बड़ी संख्या में लोग जमा थे। सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में तो जैसे इन लोगों को पता ही नहीं था या शायद शराब लेने की कुछ ज्यादा ही जल्दी थी। बता दें कि दिल्ली सरकार ने 6 दिन का लॉकडाउन किया है।

ऐसे में लोग उसी हिसाब से शराब का स्टॉक खरीद कर ले जा रहे हैं। इसी दौरान, शिवपुरी गीता कॉलोनी में एक दुकान पर शराब खरीदने आई एक महिला ने कोरोना और शराब को लेकर अजीब ही तर्क दिए। महिला ने कहा कि हम लेने आए हैं बोतल। इंजेक्शन फायदा नहीं करेगा, यह फायदा करेगा।

दवाई से कोई असर नहीं होगा, पेग से असर होगा। महिला ने यहां तक कहा कि ठेका बंद नहीं होना चाहिए। शराब पीना फायदेमंद नहीं, नुकसानदायक है, यह जानते हुए भी इसको पीने वाले अपने-अपने हिसाब से तर्क देते हैं। महिला का तर्क भी कुछ ऐसा ही था। बता दें कि लॉकडाउन अगले सोमवार सुबह पांच बजे तक रहेगा। इस दौरान सभी आवश्यक सेवाओं को इससे बाहर रखा गया है। खानपान, मेडिकल और शादी समारोह संपन्न होंगे। शादी समारोह में अधिकतम 50 लोग हिस्सा ले सकेंगे और इसके लिए पास जारी किया जाएगा।