धनकुबेर RTO अधिकारी के घर छापा, करोड़ों की प्रॉपर्टी, होम थिएटर और लग्जरी कारें बरामद, धन दौलत देख अवाक रह गई टीम

मध्य प्रदेश के जबलपुर में आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने आय से अधिक संपत्ति से जुड़े एक मामले में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी संतोष पॉल के आवास पर बुधवार को छापेमारी की. ईओडब्ल्यू ब्यूरो ने अब तक तीन जगहों पर छापेमारी कर उसके आवास से 16 लाख रुपये नकद और आभूषण बरामद किए हैं. ब्यूरो ने अपनी प्रारंभिक जांच में आरटीओ अधिकारी के करीब छह आवास, उसका फार्महाउस जिसमें होम थियेटर भी है, दो लग्जरी कारें और दो बाइक बरामद की हैं.

ये गरीब मध्य प्रदेश के जबलपुर में आरटीओ का घर है, साहब की कमाई से 650 गुना ज्यादा संपत्ति मिली है.

EOW ने जबलपुर के शताब्दीपुरम इलाके में पॉल के 10,000 वर्ग फुट के घर पर छापेमारी की. छापेमारी में खुलासा हुआ कि उनके पास ग्वारीघाट रोड पर 1,247 वर्ग फुट का एक घर, शंकर शाह वार्ड में 1,150 वर्ग फुट का घर और इसी तरह के दो अन्य आवास भी हैं. उनकी पत्नी रेखा पॉल भी क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में क्लर्क के पद पर कार्यरत हैं. ईओडब्ल्यू द्वारा की गई जांच में पति-पत्नी के पास आय से 650 फीसदी अधिक गैर-मोबाइल संपत्तियां बरामद की गईं.

ब्यूरो अब तक कुल तीन जगहों पर छापेमारी कर चुकी है. इससे पहले 8 अगस्त को जबलपुर के इमलाई स्थित पन्ना लाल उइके के परिसर में मध्य प्रदेश के सहकारी समिति विभाग के एक सहायक प्रबंधक के आवास और कार्यालय में ईओडब्ल्यू की एक टीम ने छापेमारी की थी. छापेमारी करने वाली टीम ने उसकी आय से अधिक संपत्ति पाई और प्राथमिकी दर्ज की. अधिकारियों ने बताया था कि पन्ना लाल के पास गांव जामगांव में करीब 4,000 वर्ग फुट, ग्राम इमलाई में 3.55 हेक्टेयर कृषि भूमि, गांव जामगांव में 1.67 हेक्टेयर कृषि भूमि, गांव डोली में 5 एकड़ कृषि भूमि, गांव जामगांव में 1.38 हेक्टेयर कृषि भूमि है.

एक अन्य घटना में 4 अगस्त को ईओडब्ल्यू ने भोपाल में चिकित्सा शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ लिपिक के आवास पर छापेमारी कर भारी मात्रा में नकदी, सोना और संपत्ति से जुड़े दस्तावेज जब्त किए थे. ईओडब्ल्यू के मुताबिक सतपुड़ा भवन में चिकित्सा शिक्षा विभाग में पदस्थ वरिष्ठ लिपिक हीरो केसवानी की आय से अधिक संपत्ति की शिकायत उन्हें लगातार मिल रही थी.

पुलिस अधीक्षक (ईओडब्ल्यू) राजेश मिश्रा ने कहा, “हीरो केसवानी, वर्तमान में लगभग 50,000 रुपये प्रति माह का वेतन प्राप्त कर रहा है, उसकी आय से अधिक संपत्ति है. हमें इसके बारे में जानकारी मिली और उसके घर पर छापा मारा.