धर्मपुर विकास खण्ड मनरेगा मज़दूर यूनियन सबन्धित सीटू का खण्ड सम्मेलन 31 जुलाई को अंबेडकर भवन सजाओपीपलु में होगा औऱ उसी दिन

प्रदर्शन भी किया जाएगा।इसका फैसला टिहरा में आयोजित कमेटी की मीटिंग में लिया गया जिसकी अध्यक्षता सीटू मज़दूर संगठन के ज़िला अध्यक्ष व

ज़िला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह ने की जिसमें स्वान्धित पँचायत सयोजकों व कमेटी सदस्यों ने भी भाग लिया।बैठक में निर्णय लिया गया कि मनरेगा

मजदूरों को कई पंचायतों में अभी इस वर्ष 2019-20 में काम नहीं मिल रहा है जबकि इस वित्त वर्ष के चार महिने बीत चुके हैं।इसके अलावा राज्य सरकार ने

श्रमिक कल्याण बोर्ड से पंजीकृत मजदूरों को मिलने वाली वाशिंग मशीनें, सोलर लैम्प, इंडक्शन हीटर औऱ साइकलें जारी करना बंद कर दीं हैं।कियूंकि

जब से हिमाचल प्रदेश में जय राम के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी है तब से ये काम रुक गया है।जिसका मुख्य कारण सरकार द्धारा इस बोर्ड का अध्यक्ष

नियुक्त न करना है।मंडी ज़िला में सबसे ज्यादा मज़दूरों को सीटू व हिमाचल किसान सभा द्वारा बोर्ड का सदस्य बनवाया है जिनकी संख्या पाँच हजार के

लगभग है लेकिन इनमें से अभी तक 40 प्रतिशत मजदूरों को ही ये चार आईटमें स्वीकृत हुई हैं और शेष मज़दूर पिछले दो साल से इंतज़ार कर रहे हैं।लेकिन

प्रदेश सरकार इस बारे उदासीन बनी हुई है।इसलिये मनरेगा मज़दूर यूनियन औऱ हिमाचल किसान सभा ने 31 जुलाई को इस मांग बारे खण्ड स्तरीय

सम्मेलन आयोजित करने का निर्णय लिया है और उस दिन मुख्यमंत्री को मांग पत्र भी भेजा जाएगा। इस सम्मेलन में सजाओपीपलु, सरी,

लौंगनी,ब्रांग,सधोट,परसदा हवानी, चोलथरा, गरयोह, कोट, टिहरा, डरवाड़,तनिहार, ग्रोउडु, भदेहड़, कुन, तौरखोला, दतवाड, नेरी, संधोल, सोहर,

संधोल, ग्वेला, कोठुवां,धलरा, भूर, कमलाह,सिद्धपुर, स्योह, धर्मपुर,कमलाह,बनाल इत्यादि पंचायतों के प्रतिनिधि भाग लेंगे।मीटिंग में निर्णय लिया गया कि 15 से 30 जुलाई तक सभी वार्डों में कमेटियों का गठन

औऱ सदस्यता अभियान चलाया जाएगा और उसके बाद खण्ड सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। भूपेंद्र सिंह ने बताया कि धर्मपुर खण्ड के 250

मजदूरों की साइकलें पिछली सरकार के समय में दो साल से स्वीकृत हुई हैं लेकिन धर्मपुर के विधायक व आई पी एच मंत्री इनका वितरण न तो स्वयं कर

रहे हैं और न ही बोर्ड के कर्मचारियों को करने दे रहे हैं।इसी प्रकार 50 सोलर लैम्प भी पिछले एक साल से धर्मपुर में पड़े हुए हैं और उन्हें भी मजदूरों को नहीँ

वांटा जा रहा है।जिसकारण मजदूरों में भारी रोष व नाराजगी है।इसलिये अब मजदूरों का सब्र खत्म होने जा रहा है और अब वे अपनी मांगों के लिए संघर्ष का

रास्ता अपनाने के लिए मजबूर किये जा रहे हैं।जिसके लिए पहले खण्ड स्तरीय सम्मेलन करके संघर्ष की रूपरेखा तैयार की जायेगी।बैठक में दूनी चन्द, प्रकाश

चन्द, भाग सिंह लखरवाल, तारा चन्द, लूद्दर सिंह, कश्मीर सिंह, रिंकू, रूपचंद, ज्ञान चन्द, राकेश कुमार, हरजीत सिंह, रणवीर सिंह, दिले राम, किरण वाला,

निर्मला, कांता, प्रोमिला, सुनीता, अनिता, रामचन्द, राजकुमारी, निलमा, करतार सिंह, रजनी, अति देवी, बाला राम, दीपक प्रेमी, प्रकाश वर्मा, रणताज़ राणा, मोहन लाल, मान सिंह, देश राज, टेक सिंह, कृष्णि, विना, रसीमा, शीला,कश्मीर सिंह इत्यादि ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here