हिमाचल में Tomato Flu की हुई एंट्री, दो मामले आये सामने।

कोरोना वायरस और मंकीपॉक्स के बाद देश में टोमैटो फ्लू पैर पसार रहा है। इसको लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी चिंता जताई है। चिंताजनक बात ये है कि प्रदेश में इसकी एंट्री का अंदेशा जिला में हुआ है।

सोलन शहर के एक निजी स्कूल में दो बच्चे जिनकी उम्र पांच व सात साल है, फ्लू को लेकर संदिग्ध पाए गए हैं। बच्चों में हल्के बुखार के साथ फ्लू के लक्षण देखें गए हैं, हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं है कि ये टोमैटो फ्लू है। लेकिन एहतियात के तौर पर बच्चों को आइसोलेट कर दिया गया है।

इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। टमाटर बुखार के लक्षणों में तेज बुखार, मांसपेशियों में दर्द, थकान, धड़कन बढ़ना, जोड़ों में दर्द, खुजली, उल्टी, डिहाइड्रेशन, दस्त आदि शामिल हैं।

वहीं, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अमित रंजन ने बताया कि टोमैटो फीवर को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। उन्होंने बताया कि सोलन शहर में दो संदिग्ध मामले सामने आए है, जिन्हें स्वास्थ्य विभाग ने 10 दिनों के लिए आइसोलेट कर दिया है।

उन्होंने कहा कि टोमैटो फ्लू को हाथ, पैर और मुंह की बीमारी (एचएफएमडी) का एक प्रकार माना जाता है। इसे टोमैटो फ्लू इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस रोग में रोगी के शरीर पर टमाटर के आकार और रंग के छाले पड़ जाते हैं।