प्रदेश में हर घंटे 42 कोरोना के मामले पाजटिव।

प्रदेश में काेराेना संक्रमण का आंकड़ा एक लाख के पार पहुंच गया है। काेराेना की दूसरी लहर इतनी तेजी से बढ़ी है कि 44 दिन में ही काेराेना के 40 हजार से ज्यादा मरीज आ चुके हैं। राेजाना औसतन 1100केस अा रहे है, यानि हर घंटे औसतन 42 नए मरीज काेराेना संक्रमण की चपेट में आ रहे है।

नवंबर के बाद अप्रैल महीने ने पिछले साल के सारे रिकाॅर्ड ताेड़ते हुए सभी काे चाैंका दिया, पहले 35 हजार तक का आंकड़ा पार करने में आठ महीने का समय लग गया था। 24 नवंबर 2020 काे प्रदेश में काेराेना का आंकड़ा 35 हजार रिकाॅर्ड किया गया था।

1 से 60 हजार पाॅजिटिव हाेने में लगे थे पहले 363 दिन

पिछले साल 21 मार्च 2020 काे प्रदेश में काेराेना का पहला मरीज मिला था। इसके बाद काेराेना के आंकड़े काे 60 हजार तक पहुंचने में 363 दिन का समय लगा था, लेकिन इस साल 44 दिन में 40 हजार काेराेना के केस बढ़े है। अकेले अप्रैल के महीने में 15 हजार 204 केस पाॅजिटिव आए और 445 लाेगाेें ने काेराेना से जूझते हुए दम ताेड़ा।

24 घंटे के दौरान राज्य में 2751 केस, 34 मौतें

24 घंटे के दौरान राज्य में 2751 केस आए हैं, इससे प्रदेश में काेराेना का आंकड़ा 102038 पहुंच गया है। वहीं, 24 घंटे में 34 मरीजों की मौत हुई है और राज्य में इस संक्रमण से हुई मौत का आंकड़ा 1500 पार कर गया है। कांगड़ा जिले में ही 18 मरीजों की मौत हुई है। सोलन में 6, चंबा, किन्नौर, शिमला और ऊना जिले में एक-एक मरीज की मौत हुई है।

प्रदेश में कोरोना वायरस से अब तक कुल 1518 मरीजों की मौत हो चुकी है। शनिवार काे कांगड़ा जिले में 669, सिरमौर में 527, सोलन में 334, हमीरपुर में 282, शिमला में 280, मंडी में 157, बिलासपुर में 146, ऊना में 101, चंबा में 83, कुल्लू में 82, लाहौल-स्पीति में 63 और किन्नौर में 27 नए मामले पाॅजिटिव आए हैं।

प्रदेश में कोरोना वायरस से अब तक 80534 मरीज ठीक हुए हैं। शनिवार को 1220 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इससे प्रदेश में काेराेना से ठीक हाेने वालाें का आंकड़ा बढ़ कर 80534 के पास पहुंच गया है। प्रदेश में कोरोना वायरस के 19928 एक्टिव केस हैं। शनिवार काे काेराेना का रिकवरी रेट गिर कर 78.92 प्रतिशत पर पहुंच गया है।

60 से 74 वर्ष की आयु वाले लाेगाें की काेराेना से ज्यादा माैतें

प्रदेश में 60 से 74 वर्ष की आयु वाले लाेग सबसे ज्यादा लाेगाें की काेराेना से मौत हुई है। इस आयु वर्ग के 612 लाेगों की काेराेना से मौत हुई। 45 से 59 वर्ष के 378, 75 साल से अधिक आयु वर्ग की आयु में 345 की काेराेना से माैत हुई है। 30 से 44 साल की आयु में 124, 15 से 29 साल तक की आयु में 19 और 15 साल तक की आयु में 6 की मौत कोरोना से हुई।

सरकार कहां कमजाेर रही

24 फरवरी काे प्रदेश में काेराेना के महज 229 सक्रिय मरीज थे। तब सब समझ बैठे थे कि काेराेना अब जाने वाला है, इसलिए सरकार ने भी और लाेगाें ने भी काेराेना काे हल्के में लिया और सब पहले की तरह व्यवहार करने लगे। कार्यक्रमाें का आयाेजन बढ़ने लगा, लाेगाें की भीड़ जुटने लगी, मूवमेंट पर काेई राेक नहीं रही, स्कूल काॅलेज खाेल दिए गए। मास्क का पहना जरुरी नहीं रह गया।

हैंड काे सेनेटाइज करना जरुरी नहीं समझा जाने लगा। चुनावी माहाैल पूरी तरह अपने चरम पर रहा, नतीजा आज प्रदेश में कांगड़ा, साेलन और मंडी चुनावी जिले काेराेना काे लेकर हाई रिस्क वाले एरिया बन गए है। कांगड़ा में 4 हजार 436 काेराेना के सक्रिय मरीज है। मंडी में 1905 और साेलन में 2613 एक्टिव मरीज है। हालांकि शिमला और सिरमाैर में भी आंकड़ा दाे हजार के पास है जाे काेराेना के प्रति बरती गई लापरवाही काे दर्शा रहा है।

अब तक कुल 17 लाख लोगों का वैक्सीनेशन

प्रदेश में 60 साल से ऊपर के 7 लाख 68 हजार 319 ने लगाई वैक्सीन, इनमें से 1 लाख 28 हजार लोगों ने दो डोज लगवाई केंद्र से प्रदेश काे अभी तक वैक्सीन की 20 लाख डाेज मिल चुकी है, इसमें से 17 लाख लाेगाें काे वैक्सीन लगाई जा चुकी है, जाे प्रदेश की कुल आबादी का 20 प्रतिशत है।

प्रदेश में 45 साल से अधिक आयु वर्ग के 14.77 लाख लाेगाें काे टीका लगाया जा चुका है। इसमें से 2.37 लाख लाेगाें काे टीके की दूसरी डाेज लगी है। प्रदेश में 60 साल से अधिक आयु वर्ग के 7 लाख 68 हजार 319 लाेगाें ने काेराेना वैक्सीन लगा ली है। इसमें 1 लाख 28 हजार 347 बुजुर्ग लाेग वह है जिन्हाेंने दाे डाेज लगा ली है।

प्रदेश में युवा तेजी से संक्रमित हो रहे हैं जो चिंता की बात

आईजीएमसी के प्रिंसिपल डाॅ. रजनीश पठानिया जाे खुद भी काेराेना पाॅजिटिव है और 14 दिनाें से अस्पताल में उपचाराधीन है,का कहना है कि उन्हाेंने काेराेना वैक्सीन लगाई उसके बाद भी वह पाॅजिटिव हुए है। उन्हाेंने कहा कि वैक्सीन लगाने के बाद शायद उनकी स्थिति दूसरे अन्य मरीजाें की तरह गंभीर नहीं रही, इसलिए वह सभी काे वैक्सीन लगाने की सलाह देते हैं।

डाॅ. पठानिया ने कहा कि आने वाला समय काेराेना काे लेकर काफी गंभीर रहने वाला है क्याेंकि यह संक्रमण तेजी से फैल रहा है, खास कर युवा इसकी चपेट में जल्दी आ रहे है जाे चिंता का विषय है। उन्हाेंने माना कि काेराेना के प्रति की गई लापरवाही इस संक्रमण काे तेजी से फैलने का कारण बनी है।

   Our Srevice

 1. News Production. 2. Digital Marketing .3 Website Designing. 4.SEO. 5 Android Development.6 Android App. 7 Google ads.  8 Youtube, Google,Twiter, Instagram Mkt.  9 Facebook Marketing Etc. 

Subscribe Us On Youtube 

Sm News Himachal 

Contact Us -+91 98166 06932,+91 93189 15955, +91 94184 53780

Join Us On Whatsapp Group