कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर से कुल्लू, ऊना तथा चंबा जिला के किसानों ने साझा किए अनुभव।

कृषि विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी विशेष अभियान के अंतर्गत प्रथम मई 2022 तक फसल बीमा पाठशाला अभियान का आयोजन किया जा रहा है। अभियान के अंतर्गत आज एक दिवसीय महा आयोजन किया गया जिसमें केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र तोमर ने लोक मित्र केंद्रांे के माध्यम से संपर्क कर पूरे देश के किसानों को संबोधित किया तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना व नवीनीकरण मौसम आधारित फसल बीमा योजना के बारे में जानकारी प्रदान की।
केंद्रीय कृषि मंत्री ने नरेन्द्र तोमर ने कुल्लू जिले के किसानों से वर्चुअल संवाद किया तथा फसल बीमा के अंतर्गत चलाई जा रही दोनों योजनाओं के बारे में किसानों को जानकारी प्रदान की। कुल्लू जिले के किसानों ने केंद्रीय कृषि मंत्री से फसल बीमा योजनाओं के अंतर्गत प्राप्त लाभ के बारे में अपने अनुभव साझा किए।
कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कुल्लू, ऊना तथा चंबा जिला के किसानों के साथ वर्चुअल माध्यम से संवाद किया तथा किसानों को योजनाओं के अंतर्गत विभिन्न प्रावधानों के बारे में जानकारी प्रदान की। किसानों ने कृषि मंत्री के साथ फसल बीमा योजनाओं के अंतर्गत अभी तक प्राप्त लाभ के बारे में अपने अनुभव साझा किए।
इस अभियान के अंतर्गत सभी कार्यान्वित बीमा कंपनी द्वारा खंड, ग्राम पंचायत, ग्राम स्तर पर ‘फसल बीमा पाठशाला का आयोजन किया जा रहा है तथा किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना तथा नवीनीकरण मौसम आधारित फसल बीमा योजना के अंतर्गत मिलने वाले विभिन्न प्रावधानों, इसके महत्व तथा इसके अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए विभिन्न औपचरिकताओं के बारे में जानकारी प्रदान की जा रही है।
अभियान में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए राज्य नोडल विभाग जैसे कृषि, उद्यान, सहकारिता, आत्मा तथा क्षेत्रीय अधिकारी, कार्यक्रम लागू करवाने वाली बीमा कंपनियां, सामान्य सेवा केन्द्र ग्रामीण वित्ता संस्थान इसमें भाग ले रहे हैं।
आज के इस विशेष आयोजन में बीमा कम्पनियों ने योजनाओं की विशेषता, इसके अंतर्गत किसानों के हित में विशेष प्रावधानों बारे तथा बीमा करवाने के लिए विभिन्न आवश्यक औपचारिकताओं बारे जानकारी प्रदान की।
कृषि सचिव राकेश कंवर, निदेशक नरेंद्र कुमार धीमान तथा अन्य अधिकारी भी वर्चुअल माध्यम से प्रदेश के किसानो से जुड़े तथा इस विशेष अभियान ‘फसल बीमा पाठशाला’ में अधिक से अधिक संख्या में भागीदारी सुनिश्चित कर किसान हितकारी योजनाओं का पूर्ण लाभ उठाने का आह्वान किया।