ठाणे शिवसेना जिलाध्यक्ष के खिलाफ रेप पीड़िता को धमकाने का केस दर्ज, पैसा दे रफा-दफा कराने चाहते थे मामला।

शिवसेना के नवनियुक्त ठाणे जिलाध्यक्ष केदार दिघे के खिलाफ दुष्कर्म और धमकी देने का मामला दर्ज किया गया है. केदार दिघे पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने एक दुष्कर्म पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी थी. मामला कुछ यूं है कि 28 जुलाई को मुंबई के एक होटल में रोहित कपूर नाम के शख्स ने क्लब मेंबरशिप के बहाने एक युवती के होटल में बुलाया और उसके साथ दुष्कर्म किया. जिसके बाद युवती ने एनएम जोशी मार्ग थाने में मामला दर्ज कराया है.

एफआईआर के मुताबिक, उस दिन तो युवती डर कर भाग गई लेकिन 2 दिन बाद जब पीड़िता ने अपने दोस्त के जरिए रोहित से संपर्क कर जवाब मांगा तो रोहित ने उसे ब्लॉक कर दिया. इसके बाद एक अगस्त को अपने दोस्त केदार दिघे की मध्यस्था से पैसे लेकर मामला रफा दफा करने की कोशिश की. लेकिन युवती ने मामले को रफा-दफा करने से मना कर दिया. इसके बाद केदार दिघे ने युवती को जान से मारने की धमकी दी.

पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 376 और 506(2) के तहत मामला दर्ज किया है.बता दें, केदार दिघे शिवसेना के वरिष्ठ नेता धर्मवीर आनंद दिघे के भतीजे हैं. शिवसेना के उद्धव ठाकरे गुट ने हाल ही में उन्हें ठाणे जिला अध्यक्ष बनाया है. ठाणे जिला मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का गढ़ माना जाता है.