देश की राजधानी दिल्ली के सटे यूपी के गाजियाबाद में दिल दहलाने वाली वारदात हुई है. यहां एक बच्चे को नाबालिग रिश्तेदार ने ही दोस्तों के साथ मिलकर किडनैप कर लिया. उसने 15 लाख की फिरौती मांगी, लेकिन बच्चे का कत्ल कर उसके शव को एक पार्क में छोड़ दिया. हत्यारों की कोशिश थी कि वो 15 लाख की वसूली कर आपस में 5-5 लाख रुपये बांट लेंगे. ये पूरी वारदात गाजियाबाद के खोड़ा कॉलोनी की है, जहां चौथी कक्षा में पढ़ने वाले 10 साल के बच्चे हर्ष उर्फ कान्हा की हत्या कर दी गई. हर्ष का शव नोएडा के सेक्टर 54 के खरगोश पार्क में मिला. गर्दन-पेट में चाकुओं के कई वार गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि हर्ष सोमवार शाम से गायब था. उसका शव बोरे में पड़ा मिला. उसके गर्दन और पेट को चाकुओं से गोद डाला गया था. पुलिस ने इस मामले में शुरआत जांच के बाद हर्ष के मौसेरे भाई और उसके कुछ दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो पूरे मामले का खुलासा हो गया. नाबालिग मौसेरे भाई ने दोस्तों के साथ मिलकर दिया वारदात को अंजाम गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि हर्ष के मौसेरे नाबालिक भाई ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर उसका अपहरण किया था और 15 लाख की फिरौती मांगने की योजना बनाई थी. अपहरण कर आरोपी मासूम बच्चे को नोएडा के सेक्टर 54 के खरगोश पार्क में लेकर गए थे. इस दौरान बच्चे ने उनके कब्जे से भागने की कोशिश की, तो आरोपियों ने पकड़े जाने के डर से उसे चाकुओं से गोद डाला और शव को बोरे में बंद कर नोएड़ा के सेक्टर-54 के खरगोश पार्क में छिपा दिया. फिरौती की रकम के लिए अपहरण-हत्या पुलिस की पूछताछ में खुलासा हुआ है आरोपी हर्ष को चॉकलेट दिलाने के नाम पर स्कूटी पर बैठा कर ले गए थे और बच्चे को जब तक छिपा कर रखना चाहते थे जब तक कि 15 लाख की फिरौती रकम न मिल जाए. मगर हर्ष के भागने की कोशिश के बाद उसकी हत्या कर दी. उन्होंने 10 अप्रैल को बच्चे का अपहरण किया था और शव 13 अप्रैल को बरामद किया गया. पुलिसकर्मियों की कार्यशैली की होगी जांच इस मामले में गाजियाबाद के एसएसपी ने मामले की जाँच के दौरान पुलिस की भूमिका की जाँच कराने के आदेश दिए है। उन्होंने कहा कि अगर इस मामले की जांच में पुलिसकर्मियों की लापरवाही सामने आई तो उनके खिलाफ़ कार्रवाई की जाएगी। इस मामले की जांच एसपी(क्राइम) को सौंप दी गई है.

देश की राजधानी दिल्ली के सटे यूपी के गाजियाबाद में दिल दहलाने वाली वारदात हुई है. यहां एक बच्चे को नाबालिग रिश्तेदार ने ही दोस्तों के साथ मिलकर किडनैप कर लिया. उसने 15 लाख की फिरौती मांगी, लेकिन बच्चे का कत्ल कर उसके शव को एक पार्क में छोड़ दिया. हत्यारों की कोशिश थी कि वो 15 लाख की वसूली कर आपस में 5-5 लाख रुपये बांट लेंगे. ये पूरी वारदात गाजियाबाद के खोड़ा कॉलोनी की है, जहां चौथी कक्षा में पढ़ने वाले 10 साल के बच्चे हर्ष उर्फ कान्हा की हत्या कर दी गई. हर्ष का शव नोएडा के सेक्टर 54 के खरगोश पार्क में मिला.

गर्दन-पेट में चाकुओं के कई वार

गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि हर्ष सोमवार शाम से गायब था. उसका शव बोरे में पड़ा मिला. उसके गर्दन और पेट को चाकुओं से गोद डाला गया था. पुलिस ने इस मामले में शुरआत जांच के बाद हर्ष के मौसेरे भाई और उसके कुछ दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो पूरे मामले का खुलासा हो गया.

नाबालिग मौसेरे भाई ने दोस्तों के साथ मिलकर दिया वारदात को अंजाम

गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि हर्ष के मौसेरे नाबालिक भाई ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर उसका अपहरण किया था और 15 लाख की फिरौती मांगने की योजना बनाई थी. अपहरण कर आरोपी मासूम बच्चे को नोएडा के सेक्टर 54 के खरगोश पार्क में लेकर गए थे. इस दौरान बच्चे ने उनके कब्जे से भागने की कोशिश की, तो आरोपियों ने पकड़े जाने के डर से उसे चाकुओं से गोद डाला और शव को बोरे में बंद कर नोएड़ा के सेक्टर-54 के खरगोश पार्क में छिपा दिया.

फिरौती की रकम के लिए अपहरण-हत्या

पुलिस की पूछताछ में खुलासा हुआ है आरोपी हर्ष को चॉकलेट दिलाने के नाम पर स्कूटी पर बैठा कर ले गए थे और बच्चे को जब तक छिपा कर रखना चाहते थे जब तक कि 15 लाख की फिरौती रकम न मिल जाए. मगर हर्ष के भागने की कोशिश के बाद उसकी हत्या कर दी. उन्होंने 10 अप्रैल को बच्चे का अपहरण किया था और शव 13 अप्रैल को बरामद किया गया.

पुलिसकर्मियों की कार्यशैली की होगी जांच

इस मामले में गाजियाबाद के एसएसपी ने मामले की जाँच के दौरान पुलिस की भूमिका की जाँच कराने के आदेश दिए है।  उन्होंने कहा कि अगर इस मामले की जांच में पुलिसकर्मियों की लापरवाही सामने आई तो उनके खिलाफ़ कार्रवाई की जाएगी। इस मामले की जांच एसपी(क्राइम) को सौंप दी गई है.