कुमारसैन के हितेन्द्र शर्मा को मिला राज्यस्तरीय शंखनाद मीडिया विशिष्ट सम्मान 2022 .

सिरमौर जिला के खूबसूरत शहर नाहन में शंखनाद समाजिक संगठन द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में पद्मश्री विद्यानन्द सरैक की गरिमापूर्ण उपस्थिती एवं मुख्य अतिथि परमार पीठ हि.प्र. विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डॉ. ओमप्रकाश शर्मा, हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी के सचिव डॉ. कर्म सिंह, शंखनाद मीडिया के निदेशक डॉ. श्रीकांत अकेला, डाइट प्राचार्य ऋषिपाल शर्मा, वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. गंगाराम राजी ने संयुक्त रूप से कुमारसैन उपमंडल के किगंल निवासी युवा लेखक, साहित्यकार एवं सम्पादक हितेन्द्र शर्मा को ‘वसंतोत्सव-2022’ के राज्य स्तरीय शंखनाद मीडिया विशिष्ट सम्मान से नवाजा। ‘वसंतोत्सव 2022’ में ‘शंखनाद’ ने हिमाचल प्रदेश की 15 विभूतियों को सम्मानित किया।

नाहन में आयोजित इस कार्यक्रम में प्रदेश-देश में विख्यात साहित्यकार, लेखक, कला और रंगमंच से जुडी हस्तियां भाग लिया। विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी प्रदेशभर से 15 विभूतियों को शंखनाद विशिष्ट सम्मान से नवाजा, ज़िनमें कला, संस्कृति, भाषा, साहित्य, पत्रकारिता, लेखन और रंगमंच से जुडे प्रतिष्ठित लोग शामिल हुए।

राज्यस्तरीय समारोह में डॉ. यशवंत सिंह परमार पीठ हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के अध्यक्ष, साहित्यकार, लेखक और शिक्षाविद डॉ. ओमप्रकाश शर्मा बतौर मुख्यअतिथि शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाषाविद, साहित्यकार, लेखक तथा हिमाचल प्रदेेश कला संस्कृति भाषा अकादमी के सचिव डॉ. कर्म सिंह ने की।

शंखनाद विशिष्ट सम्मान समारोह में हितेन्द्र शर्मा सहित पद्मश्री विद्यानन्द सरैक, प्रसिद्ध समाजसेवी और राष्ट्रीय मुस्लिम मंच की प्रदेश संयोजक जीनत खान, शिक्षाविद, साहित्यकार एवं डाईट नाहन के प्राचार्य ऋषिपाल शर्मा, प्रदेश के माने जाने साहित्यकार लेखक उपन्यासकार डॉ. गंगा राम राजी विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए।

समारोह में लोक संस्कृति और साहित्य में पद्मश्री विद्यानन्द सरैक, साहित्य में सावित्री आजमी, लोक संगीत में रूपेश्वरी शर्मा, पहाड़ी साहित्य में वयोवृद्ध साहित्यकार हेतराम पहाड़िया, साहित्य कला संवाद के लिए युवा हस्ताक्षर हितेन्द्र शर्मा, पत्रकारिता में हिमवंती मीडिया के संस्थापक अरविंद गोयल, अमर उजाला के वरिष्ठ पत्रकार योगेन्द्र अग्रवाल और दैनिक जागरण के पत्रकार राजन पुंडीर, साहित्य लेखन में डॉ. ईश्वर राही, दीपचन्द कौशल, कहानी लेखन और साहित्य में कृष्ण चन्द महादेविया, रंगमंच निर्देशन में रजित सिंह कंवर, लेखन प्रकाशन में प्रसिद्ध लेखक, साहित्यकार और अध्यात्मिक योग गुरू पवन बख्शी, कला में प्रसिद्ध चित्रकार घनश्याम कश्यप और युवा साहित्यकार गोविन्द गौरव को सम्मानित किया गया।