आजादी के संग्राम में हिमाचल के सेनानियों का अहम योगदान-उपायुक्त

केंद्रीय संचार ब्यूरो शिमला की तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी हुई संपन्न
प्रदर्शनी में हिमाचल के स्वतंत्रता सेनानियों से जुड़े दुर्भल चित्र प्रदर्शित किए गए
हमीरपुर 2 सितम्बर- भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत केंद्रीय संचार ब्यूरो (सीबीसी) के शिमला स्थित क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा हमीरपुर के टाउन हॉल में आयोजित तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी का आज समापन हो गया। समापन के अवसर पर उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। उपायुक्त ने प्रदर्शनी में लगे विभिन्न विभागों के स्टॉल्स का निरीक्षण किया। प्रदर्शनी में स्वयं सहायता समूह, रा0व0मा0 पाठशाला (बाल व कन्या) हमीरपुर, पोस्टल विभाग, भाषा विभाग और चुनाव आयोग ने स्टॉल्स लगाए गए थे जिनसे आने वाले लोग काफी लाभान्वित हुए। उपायुक्त ने हिमाचल प्रदेश के गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों और भारत सरकार के आठ वर्षों के विकास कार्यों से जुड़ी चित्र प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।
उपायुक्त ने प्रदर्शनी में विभिन्न विभागों को स्मृति चिन्ह भेंट किए जिन्होंने स्टॉल्स लगाए थे। उन्होंने आज आयोजित चित्रकला प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया। इस प्रतियोगिता में रजनी, रजत और पायल ने क्रमश:पहला, दूसरा व तीसरा स्थान हासिल किया।
इस मौके पर उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने अपने संबोधन में कहा कि चित्र प्रदर्शनी में हिमाचल के गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों का अहम योगदान रहा है। उपायुक्त ने कहा कि जो जानकारी प्रदर्शनी में दिखाई गई है वह दुर्लभ है और युवाओं को उनसे प्रेरणा लेने की जरुरत है। उन्होंने चित्र प्रदर्शनी के लिए केंद्रीय संचार ब्यूरो शिमला का आभार भी जताया।
प्रदर्शनी में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और छात्रों ने म्यूजिकल चेयर, पेंटिंग व क्विज प्रतियोगिताओं में भाग लिया। इस दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और छा़त्र-छात्राओं ने पोषण सप्ताह माह के अंतर्गत शपथ भी ली। प्रदर्शनी में लोक कलाकारों ने देशभक्ति व लोक गीतों से समां बांधा।