हिमाचल प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा शिमला जिला के नदी पर बनाई जा रही 111 मेगावाट की साबड़ा कुडू जल विद्युत परियोजना के प्रारंभिक

जलभराव का कार्य योजना का एक महत्वपूर्ण पड़ाव हासिल किया है श्री देवेश कुमार प्रबंधक निदेशक हिमाचल प्रदेश पावर कॉरपोरेशन ने बटन दबाकर प्रारंभ

किया इस परियोजना के बैराज का प्रारंभिक जलभराव लगातार 15 दिनों तक किया जाएगा पहले 8 दिनों तक क्रमबद्ध तरीके से जलभराव किया जाएगा उसके

पश्चात 24 घंटे तक निरीक्षण किया जाएगा उसके अदा उपरांत बैराज को इसी क्रमबद्ध तरीके से धीरे-धीरे खाली किया जाएगा इस दौरान दराज के हाइड्रोलिक

व्यवहार एवं हाइड्रोमकैनिकल भाग का भी परीक्षण होगा इस उपलक्ष पर देवेश कुमार ने कहा कि इस परियोजना के बैराज का जलभराव परियोजना निर्माण के

लिए महत्वपूर्ण पड़ाव है और यह परियोजना निर्माण के अंतिम स्तर पर है और

बैराज के जल प्रभाव परीक्षण के बाद शीघ्र ही परियोजना को प्रारंभ कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here