सुरेंदर सिंह चम्बा ब्यूरो- पांगी घाटी से नाबालिग लड़की के समुदाय विशेष के युवक द्वारा अपहरण करने की घटना के बाद लोगों में खासा आक्रोश देखने को मिल रहा है।

शुक्रवार को पांगी घाटी के लोगों ने एसडीएम विश्रुत भारती के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर जल्द आरोपी के चंुगल से नाबालिग को छुड़वाने की मांग उठाई है। उन्होंने साथ ही आरोपी के खिलाफ दर्ज मामले में पोस्को एक्ट को जोड़ने की बात भी कही।

एसडीएम को सौंपे ज्ञापन में घाटी के लोगों का कहना है कि पिछले कुछ अरसे से पांगी में दूसरे धर्म के लोग कम उम्र की लड़कियों को बहला- फुसलाकर शारीरिक शोषण कर धर्म परिवर्तन को मजबूर कर रहे हैं।

इससे हम जनजातीय लोगों की सांस्कृतिक अस्मिता और अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है। उन्होंने कहा कि बड़ी चिंता का विषय है कि संसारी में पुलिस पोस्ट होने के बावजूद एक लड़का नाबालिग को भगा ले गया।

इससे सिद्ध होता है कि पांगी का क्षेत्र सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि पंगवाल संस्कृति को विकृत करने वाली इस घटना से पांगी का समाज खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है। उन्होंने कहा कि नाबालिग को भगाने वाले आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए।

इसके साथ ही पांगी में बाहरी जगहों से आने वाले लोगों की पहचान व चरित्र की वेरिफिकेशन के पुख्ता प्रबंध किए जाएं।

उन्होंने कहा कि अगर जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर नाबालिग को उसके चुंगल से सुरक्षित न छुड़ाया गया, तो पंगवाल समाज सड़कों पर उतरकर आंदोलन की राह अपनाने को मजबूर होगा।

बहरहाल, पांगी घाटी से नाबालिग लड़की के समुदाय विशेष के युवक द्वारा अपहरण करने की घटना के बाद लोगों में खासा आक्रोश देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को पांगी घाटी के लोगों ने एसडीएम विश्रुत भारती के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर जल्द आरोपी के चंुगल से नाबालिग को छुड़वाने की मांग उठाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here