70 lakhs of lacquer in Arki looted 10 lakhs

सरकाघाट की बर्छवाड़ पंचायत के निवासी सौरभ शर्मा उर्फ जीतू पुत्र नरेन्द्र कुमार आयु 35 साल ने अपने भाई गौरव शर्मा के साथ पुलिस स्टेशन में आकर शिकायत दर्ज कराई है।गत दस दिसम्बर 2019 को उन्हें पुष्पा देवी पत्नी रणजीत सिंह गांव धाड़ डाकघर रखोह ने उनकी माता को फोन किया कि वह उसके लड़के जीतू उर्फ सौरभ शर्मा की शादी से करा देगी लेकिन शादी करवाने के एवज में उन लोगों को 80 हज़ार रुपए पुष्पा देवी को देने होंगे।

जानकारी के अनुसार अपनी बढ़ती उम्र को देखते हुए वह इस प्रस्ताव पर सहमत हो गया और उसके बाद वह अपनी माता,पिता,भाई और मामा के साथ और पुष्पा देवी व उसके पति के साथ एक टाटा सोमू गाड़ी में कुल्लू जिला के नगवाईं में माता काली के मंदिर ले गई जहां लड़की रूमा देवी और एक अन्य व्यक्ति जिसे पुष्पा देवी मामा कह कर बुला रही थी। वहीँ मन्दिर में जब लड़के और लड़की ने एक दूसरे को देखा तो दोनों ने शादी के लिए सहमति दे दी।

शादी के बाद दुल्हन रूमा देवी सौरभ शर्मा उर्फ जीतू के साथ दो दिन रही और जब दोनों पति पत्नी दूल्हे सौरभ के साथ एस डी एम के कार्यलय में शादी को पंजीकृत करवाने के लिए गए तो सौरभ के कानूनी सलाहकार ने उसको बताया कि रूमा और पुष्पा देवी अपने पति के साथ नकली शादी करवाने का धंधा करती हैं तथा इन पर पहले ही झूठी शादियों को लेकर कई मुकदमे अदालत में दर्ज हैं।अधिवक्ता की बातों को सुनकर दोनों पुष्पा और रूमा वहां से कोई बहाना बनाकर फरार हो गई हैं और इस प्रकार पुष्पा देवी, उसके पति रणजीत सिंह ने एक बार फिर सौरभ शर्मा को भी अपने झांसे में ले लिया।

सौरभ शर्मा ने पुलिस से आरोपितों को कानुनासार दंडित करने और उसके 80 हज़ार रुपए लौटाने का अनुरोध किया है।डी एस पी चन्दरपाल सिंह ने पुस्टि करते हुए बताया कि आरोपितों के विरुद्ध आईपीसी की धाराओं 420 और 120 बी के तहत मामला दर्ज कर दिया गया है तथा पुलिस जांच कर रही है।गत दो वर्ष पहले भी पुष्पा देवी और रूमा ने मिलकर इसी प्रकार बलदवाड़ा तहसील की समैला पंचायत के एक व्यक्ति को इसी तरह धोखा दिया था।

Leave a Reply