वित्तीय वर्ष 2021-22 में राज्य कर एवं आबकारी विभाग ने 8403.70 करोड़ रुपये राजस्व एकत्र किया

राज्य कर एवं आबकारी विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में कोविड-19 महामारी की दूसरी और तीसरी लहर के बावजूद विभाग द्वारा सभी शीर्षों के अन्तर्गत कुल 8403.70 करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र किया गया है, जोकि वित्तीय वर्ष 2020-21 में सभी शीर्षों में एकत्र कुल राजस्व 7044.24 करोड़ रुपये से 19.30 प्रतिशत अधिक है।

उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में राजस्व में अधिक बढ़ोतरी के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा सरकार के दिशा-निर्देशों की समयबद्ध पालना व उन्हें जमीनी स्तर पर लागू करने के लिए अथक प्रयासों का परिणाम है। उन्होंने यह भी बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 की तुलना में वित्तीय वर्ष 2021-22 में राजस्व प्राप्तियों में बढ़ोतरी के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर विभागीय समीक्षा बैठकों का आयोजन किया गया। सरकार द्वारा विभागीय अधिकारियों को लैपटॉप और टैबलेट दिए गए, जिससे उन्हें ई-वे बिल सत्यापन, आईटीसी असन्तुलन, जीएसटी की वापसी (रिफंड) व अन्य जीएसटी से संबंधित ऑनलाइन कार्यों का समय पर निपटान करने में सहायता मिली।

प्रधान सचिव, राज्य कर एवं आबकारी सुभासीष पन्डा ने विभाग के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को वित्तीय वर्ष 2022-23 में भी राजस्व प्राप्तियों में बढ़ोतरी के लिए बेहतर प्रयत्न करने को प्रोत्साहित किया।