मुख्यमंत्री ने चम्बा विधानसभा क्षेत्र के लिए 196 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाआंे के लोकार्पण और शिलान्यास किए

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज चंबा जिला के चंबा विधानसभा क्षेत्र के चौगान में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए विधानसभा क्षेत्र के लिए लगभग 196 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास करने के उपरांत साहो में उप तहसील और जल शक्ति मंडल खोलने, ग्वार्ड, धनोटी, तडोली और भुज्जा में प्राथमिक विद्यालयों का स्तरोन्यन, सार, परेल और छतरडी के प्राथमिक विद्यालयों को माध्यमिक विद्यालयों में स्तरोन्नत करने, कडेड़, रान और ओड़ा के उच्च विद्यालयों को वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में स्तरोन्नत करने, धबड़ें में पशु चिकित्सा औषधालय खोलने, पलहुई, कैला और ककियां में स्वास्थ्य उप केंद्र खोलने और वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मंगला और जडेरा में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि नए बस स्टैंड से चौगान तक 25 करोड़ रुपये की लागत से रोप-वे निर्मित किया जाएगा और इसे स्वीकृति के लिए केंद्र को भेजा गया है। उन्होंने कहा कि चंबा को उड़ान योजना के अन्तर्गत शामिल करने का प्रयास किया जाएगा ताकि चंबा से शिमला और चंडीगढ़ के लिए उड़ानें शुरू की जा सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज 123 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाआंे के शिलान्यास करने के साथ 73 करोड़ रुपये की 22 विकासात्मक परियोजनाओं को समर्पित कर इतिहास रच दिया गया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा चंबा जिले को आकांक्षी जिले के रूप में चुना गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि विकास की गति को तेज करने के लिए केंद्र से सीधे विशेष धनराशि उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी चंबा जिले के विकास पर विशेष ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा कि इस मौसम में भारी बर्फबारी के बावजूद राज्य सरकार ने जिले को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य के लिए 800 करोड़ रुपये की विशेष सहायता प्रदान की है और यह केंद्र और राज्य में डबल इंजन सरकारों के कारण संभव हो पाया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में पर्यटन के विकास के लिए केंद्र सरकार ने 2100 करोड़ रुपये की परियोजना प्रदान की है। उन्होंने कहा कि जल शक्ति, उद्यान, ऊर्जा इत्यादि के तहत राज्य के लिए कई परियोजनाओं को स्वीकृति प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों में प्रदेश ने हर क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति की है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज देने में भी हिमाचल देश का पहला राज्य बन कर उभरा है। उन्होंने कहा कि विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू कर देश के 137 करोड़ लोगों को निःशुल्क टीका उपलब्ध करवाया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने प्रदेश में अपने कार्यकाल के लगभग चार वर्ष तथा चार माह पूरे कर लिए हैं, लेकिन सरकार के विरूद्ध भ्रष्टाचार का एक भी मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि यह राज्य के चहुंमुखी और संतुलित विकास के एकमात्र उद्देश्य के कारण संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के लोगों के सहयोग और समर्थन से हिमाचल में मिशन रिपीट सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश के साथ-साथ राज्य में भी अपना आधार खो चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के नेता पार्टी में अपना वर्चस्व साबित करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर भाजपा विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है, जिसकी देश के 18 राज्यों में सरकार है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले पात्र वर्गों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने में 400 करोड़ रुपये व्यय किए जाते थे, जबकि आज प्रदेश सरकार द्वारा 1300 करोड़ रुपये से अधिक व्यय किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने 73 करोड़ रुपये की 22 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण किये, जिसमें 3.26 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित गृह रक्षा विभाग की आठवीं वाहिनी के कार्यालय भवन और ट्रांजिट कैंप, पुलिस विभाग के 2.55 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सी.आई.डी. विंग का कार्यालय एवं आवासीय परिसर, डाइट चम्बा सरू में 4.51 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 100 लड़कियों के छात्रावास, मरेड़ी-सिल्लाघराट सड़क पर 1.17 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित गर्जन ब्लाह पुल, 1.73 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित काण्डू से अप्पर पजोह सड़क, 1.79 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित काण्डू से लोअर पजोह सड़क, 4.79 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित चम्बा-घटरेड़ सड़क के सुधार कार्य, 2.06 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सुल्तानपुर-बाड़ी सड़क के निर्माण कार्य, 3.01 करोड़ रुपये की लागत के किरी लग्गा सड़़क के सुधार कार्य, 2.42 करोड़ रुपये की लागत के साहू से किरी सड़क के सुधार कार्य, 2.03 करोड़ रुपये की लागत से चम्बा से सरू सड़क के उन्नयन कार्य, 1.82 करोड़ रुपये की लागत से चनेड़ से भनोटा सड़क के उन्नयन कार्य, 1.90 करोड़ रुपये की लागत से किरी बांजल सड़क के निर्माण कार्य, 3.15 करोड़ रुपये की लागत से रजेरा-गूड़ा-बोग्गा सड़क के निर्माण कार्य, 1.97 करोड़ रुपये की लागत से कोहलारी से चीलबंगला सड़क के निर्माण कार्य, 2.84 करोड़ रुपये की लागत से सिरना के लिए सम्पर्क सड़क, 3.27 करोड़ रुपये की लागत से दादरी के लिए सम्पर्क सड़क, 15 करोड़ रुपये की लागत से पंडित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कालेज चम्बा में एम.आर.आई. मशीन, 1.27 करोड़ रुपये की लागत से जवाहर लाल नेहरू मैडिकल कालेज में 800 एलपीएम ऑक्सीजन प्लांट, सरोल में 6.79 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित जी.एन.एम.नर्सिंग स्कूल के भवन, मरेड़ी में 4.30 करोड़ रुपये की लागत से 33/11 के.वी. सब स्टेशन और पुलिस लाईन चम्बा में 1.78 करोड़ रुपये की लागत से आठ सरकारी आवासों का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने 123 करोड़ रुपये की 13 विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास किए, जिसमें 7.21 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली कोहलारी से तलाई सड़क के चौड़ीकरण तथा सुधार कार्य, 3.16 करोड़ रुपये की लागत से घूम से जजनला सड़क के निर्माण कार्य, 2.21 करोड़ रुपये की लागत से क्षेत्रीय अस्पताल चम्बा से बलू वाया पक्का टाला सड़क के चौड़ीकरण तथा सुधार कार्य, बलू में 2.18 करोड़ रुपये की लागत से साई नाला पर बैली पुल के निर्माण कार्य, 2.16 करोड़ रुपये की लागत से रजेरा से धुल्लारा सम्पर्क सड़क के सुधार कार्य, 4.80 करोड़ रुपये की लागत से चम्बा-साहो सड़क पर सरोथा नाला पर 40 मीटर लम्बे पुल के निर्माण कार्य, 2.86 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय महाविद्यालय चम्बा के पी.जी. ब्लॉक के निर्माण कार्य, 13.71 करोड़ रुपये की लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना कैला, जडेरा, पल्हुइन तथा सिल्लाघराट, नाबार्ड के अन्तर्गत 5.77 करोड़ रुपये की लागत से ग्राम पंचायत लुड्डू, उटीप, बाट तथा बैली के लिए विभिन्न जलापूर्ति योजनाओं की वितरण प्रणाली के सुधार कार्य, 72.50 करोड़ रुपये की लागत की रावी/साई नदी से विभिन्न पंचायतों के सूखा प्रभावित क्षेत्रों के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजनाओं, 4.74 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पुलिस स्टेशन भवन चम्बा, पुलिस लाईन चम्बा में 98 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले श्रेणी-4 के सरकारी आवास तथा 94 लाख रुपये की लागत से होने वाले श्रेणी-2 के सरकारी आवासों का शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री का चम्बा पहुंचने पर गरिमापूर्ण स्वागत किया गया।

मुख्यमंत्री ने डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर उनके चित्र पर माल्यार्पण अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर उन्होंने हिमाचली थीम सॉंग भी जारी किया।

मुख्यमंत्री ने सनवर गांव के 105 वर्षीय श्री दास के साथ बातचीत की। श्री दास वरिष्ठ नागरिकों को प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करने के लिए विशेष रूप से अपने गांव से चम्बा आए थे।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर एक बूटा बेटी के नाम योजना के अन्तर्गत एक मॉं को पौधा भी प्रदान किया।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर पदमश्री ललिता वकील, ब्लैक बेल्ट कराटे विजेता नीलम कुमारी, कबड्डी खिलाड़ी चम्बा ठाकुर और डॉ. निधिकिया को शॉल और हिमाचली टोपी भेंट कर सम्मानित किया।

इसके उपरान्त, आउटसोर्स इम्प्लाइज़ एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से भेंट की। मुख्यमंत्री ने उनकी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया।

सांसद किशन कपूर ने कहा कि केन्द्र व राज्य की डबल इंजन सरकार द्वारा देश व राज्य में संतुलित विकास सुनिश्चित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण केन्द्र व राज्य की डबल इंजन सरकारों द्वारा ही संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा देश के लोगों को पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए 60 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

स्थानीय विधायक पवन नैय्यर ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद मुख्यमंत्री द्वारा जिला चम्बा का विकास सुनिश्चित किया गया है। उन्होंने चम्बा विधानसभा क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों के दौरान चम्बा में अभूतपूर्व विकास सुनिश्चित किया गया है इस तरह राज्य सरकार का वर्तमान कार्यकाल चम्बा विधानसभा क्षेत्र के लिए वरदान साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपये की लागत से क्षेत्र में 94 सार्वजनिक कार्य योजनाएं प्रगति पर हैं।

इस अवसर पर भाजपा मण्डलाध्यक्ष विनोद कुमार ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया।

मुख्य सचेतक बिक्रम सिंह जरयाल, विधायक भरमौर जिया लाल कपूर, जिला भाजपा अध्यक्ष एवं एपीएमसी अध्यक्ष डी.एस. ठाकुर, अनुसूचित जाति एवं जनजाति निगम के अध्यक्ष जय सिंह, नगर परिषद अध्यक्ष नीलम नैय्यर, उपायुक्त चम्बा डी.सी. राणा भी इस अवसर पर उपस्थित थे।