बीजेपी में बैठे दलबदलु कुनबे की बात न करें तो अच्छा है : कृष्ण कुमार

बड़सर कांग्रेस विधायक इंद्रदत लखनपाल के नेतृत्व में एक है और एक रहेगी
हमीरपुर 26 अगस्त
जिन दलबदलुओं का अपना स्थाई कुनबा न हो वह दूसरों के कुनबों पर नसीहत नहीं देते। यह बात प्रदेश कांग्रेस सचिव कृष्ण कुमार चौधरी ने जारी प्रेस ब्यान के माध्यम से कही। कृष्ण चौधरी ने बड़सर बीजेपी के नेताओं व पदाधिकारियों पर पलटवार करते हुए कहा कि जिन लोगों को अपने ही कुनबे का पता न हो वह लोग दूसरों के कुनबे की बात न करें तो अच्छा है। उन्होंने कहा कि जो लोग अपने घर में रहते हुए ही खुद को साबित न कर सके, वह दलबदलु लोग दूसरों के घर में खुद को साबित करने की नाकामयाब कोशिश कर रहे हैं। कृष्ण चौधरी ने कहा कि बीजेपी के कुछ छुटभैया नेता व दलबदलु लोग बड़सर कांग्रेस में गुटबाजी की बात कर रहे हैं, उन्हें बता देना चाहते हैं कि बड़सर कांग्रेस विधायक इंद्रदत लखनपाल के नेतृत्व में एक है और एक रहेगी। उन्होंने कहा कि बड़सर में किस पार्टी की गुटबाजी चल रही है और किस नेता का बीजेपी के कार्यकर्ता ही व्यक्तिगत विरोध कर रहे हैं। यह बात किसी से छिपी नहीं है। बड़सर की आवाम बखूबी जानती है कि बीजेपी के किस नेता को 15 साल विधायक रहने के बावजूद बड़सर में ही अपने लिए जमीन तलाशने की नौबत आन पड़ी है और बड़सर में किसका कुनबा बिखरा पड़ा है। कृष्ण चौधरी ने कहा कि बीजेपी के कुछ छूटभैया नेता विधायक इंद्रदत्त लखनपाल को बीजेपी के खिलाफ ब्यानवाजी न करने की नसीहत दे रहे हैं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को विधायक के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। उनका यह मनसूबा कभी पूरा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक परिवार है और परिवार में थोड़ी बहुत अनबन होती रहती है। इसका मतलब यह नहीं है कि कांग्रेस के सदस्य अपने मुखिया को छोड़ बीजेपी में बैठे दलबदलु लोगों की तरह अपना कुनबा ही बदल लें। बीजेपी में जिस आका के सिर चढ़कर यह दलबदलु नेता ऐसी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। उसी आका को आज उनके कार्यकर्ता ही वसूल भाई कहने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी के आका इसी भाषा एवं व्यवहार के कारण आज खुद के लिए जमीन तलाशने को मजबूर हैं।