सीएम जयराम को सपने में भी नजर आ रहे केजरीवाल,सियासी जमीन खिसकती देख बौखला गए सीएम:गौरव शर्मा,आप प्रदेश प्रवक्ता।

शिमला- हिमाचल प्रदेश में आम आदमी पार्टी की बढ़ती लोकप्रियता और जनाधार से आप पार्टी प्रदेश की जनता के लिए पहला विकल्प बनती जा रही है। 23 अप्रैल को कांगड़ा के चंबी ग्राउंड में उमड़ी भीड़ से भाजपा और कांग्रेस के नेताओं की हवा निकल गई है। जिसकी बौखलाहट से अनाप शनाप बयानबाजी के लिए दोनों ही दलों के नेता उतारू हो गए हैं। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता गौरव शर्मा ने बताया कि अरविंद केजरीवाल का गुड गवर्नेंस मॉडल प्रदेश के मुखिया जयराम ठाकुर और उनके नेताओं को हजम नहीं हो रहा है जिसके चलते बौखलाहट में अब वे मर्यादा भूलकर बयानबाजी कर रहे हैं। लेकिन जनता सब जानती है कि आम आदमी पार्टी प्रदेश की राजनीति के लिए तीसरा विकल्प नहीं बल्कि पहला विकल्प के रूप में उभर रही है। जिस तरह से अंग्रेजी वर्णमाला के ABC अल्फाबेट में भी A का मतलब आम आदमी पार्टी है वहीं B फ़ॉर भाजपा और C फ़ॉर कांग्रेस है। यानी की आम आदमी पार्टी पहला विकल्प है उसके बाद भाजपा और कांग्रेस है।

गौरव शर्मा ने भाजपा के नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आज भाजपा के नेता जो कहते थे यहां केजरीवाल मॉडल नहीं चलेगा वो हर समय केजरीवाल केजरीवाल कर रहे हैं खुद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एक तरफ उनकी नकल कर रहे और दूसरी तरह हर समय केजरीवाल केजरीवाल कर रहे । उन्होंने कहा ,अब तो जयराम ठाकुर के सपनों में भी केजरीवाल आ रहे क्योंकि उनको अब अपनी सियासी जमीन खिसकती नजर आ रही। आप प्रवक्ता ने कहा,जयराम ठाकुर और बीजेपी ने साढ़े चार साल जनता के लिए कुछ नहीं किया और अब काम करने वाली सरकार जब हिमाचल आ गई तो ये दोनों दल एक हो गए और केजरीवाल के लिए अनर्गल बयानबाजी कर रहे। उन्होंने कहा आपस में फ्रेंडली मैच खेलने वाले दलों को अहसास हो गया कि अब आम आदमी पार्टी के आने से उनकी सियासी जमीन खिसक रही है इसलिए दोनों दलों के नेता बौखला गए हैं।

आप प्रवक्ता ने कहा,आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व देश की राजधानी दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी कांग्रेस के बारे में जो बातें बोली हैं वह सच बात है क्योंकि प्रदेश की भाजपा सरकार भ्रष्ट और झूठी सरकार है जो सिर्फ जुमले करना जानती है। जयराम सरकार ने प्रदेश को साढ़े चार में 70 साल पीछे ले गए है। जिस प्रदेश भगवान ने अपार प्राकृतिक संसाधन दिए हैं उसे हिमाचल की कोई भी सरकार सही और बेहतर तरीके से इस्तेमाल नहीं कर पाई है।जिसका नतीजा आज प्रदेश की जनता को भुगतना पड़ रहा है। हिमाचल के हर वर्ग महिला,युवा और बुजुर्ग हर वर्ग परेशान है क्योंकि आज तक 30 साल कांग्रेस और 17 साल भाजपा ने राज कर जनता को लूटने का काम किया है। न तो प्रदेश में स्कूलों की हालत सुधरी न ही शिक्षा, स्वास्थ्य और सड़कें। इसके अलावा प्रदेश के कई क्षेत्रों में आज भी बिजली पानी की दयनीय स्थिति है।

गौरव शर्मा ने बताया कि केजरीवाल मॉडल की आज देशभर में गुड गवर्नेंस के लिए चर्चा हो रही है। दिल्ली मॉडल में दिल्ली के स्कूल देशभर के लिए मॉडल बन गए हैं। स्वास्थय के क्षेत्र में आज हर वार्ड में मोहल्ला क्लिनिक खोले गए हैं जिससे दिल्ली के करोड़ों लोगों को मुफ्त में स्वास्थ्य सेवा का लाभ मिल रहा है। दिल्ली में केजरीवाल मॉडल से बिजली 200 यूनिट ,पानी 20 हजार लीटर और बसों में महिलाओं को फ्री यात्रा करवाई जा रही है। जो यह केजरीवाल मॉडल है उससे जयराम हताश हो गए हैं और डर के मारे हिमाचल की जनता को बरगलाने के लिए बिजली 125 यूनिट, ग्रामीण क्षेत्रों में पानी मुफ्त और महिलाओं का बस किराया आधा करने की घोषणा की है जो केवल चुनावी घोषणा है। क्योंकि अब हिमाचल में जयराम सरकार के चार-पांच माह बचें हैं। इसलिए उन्हें अपनी राजनीति के यह महीने सही ढंग से निकालने चाहिए उसके बाद तो हिमाचल में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने वाली है जो प्रदेश के लोगों को बेहतर और स्मार्ट स्कूल बनाकर शिक्षा का स्तर सुधारेगी और दिल्ली की तर्ज पर हिमाचल मॉडल बनाकर प्रदेश की जनता को मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाएगी। इसलिए प्रदेश की जनता से आग्रह है कि वे भाजपा की जनविरोधी नीतियों को बहिष्कार कर आम आदमी पार्टी को सत्ता में लाएं।