जंगली सूअरों से फ़सल बचाने की के लिए किसान सभा आगे।

टिहरा मण्डी) – धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों में जंगली सूअरों द्धारा नष्ट की जा रही मक्की की फ़सल से क्षेत्र के किसान परेशान हैं ।
जिससे उन्हें बहुत ज्यादा नुक़सान उठाना पड़ रहा है।हिमाचल किसान सभा के अध्यक्ष रणताज राणा, मेहर सिंह पठानिया, रणवीर शास्त्री, प्रेम सिंह चन्देल, मोहन सिंह,अशोक कुमार, यशवंत पठानिया, रामस्वरूप, सुरेंद्र पाल, अच्छर सिंह, कृष्ण देव, टेक सिंह सकलानी, शम्भू राम, रणजीत सिंह, देश राज गुलेरिया, हेमराज, ओमप्रकाश, रूपलाल बिष्ट, सुरेंद्र पठानिया, रूप चन्द, जीत सिंह, कुमर सिंह,रोशन लाल,राजकुमार बिष्ट, विक्रांत गुलेरिया,रशपाल विमल, जगदीश, कशमीर सिंह, बिधि चन्द, देवा नन्द, संतोष कुमार, मिलाप चन्देल,मोहन लाल, बाला राम इत्यादि ने सरकार से मांग की है कि जंगली सूअरों से फ़सलों को बचाने के लिए क़दम उठाये जायें।उन्होंने यह भी मांग की है कि पिछले कुछ सालों से जंगली सूअरों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जो किसानों के लिए मुसीबत बन गई है। जिससे छुटकारा दिलाना सरकार का दायित्व बनता है। उन्होंने बताया कि गांव गरली, घरवासड़ा,अंसवाई, भड्डडू, चस्वाल, छतरेणा, डरवाड़,पिपली, रोसो,बाहरू,मोरतन, सजाओ इत्यादि गांवों में मक्की और कचालूओं की फ़सल पूरी तरह तबाह कर दी है। जिसका किसानों को मुआबजा दिया जाना चाहिए।उन्होंने कहा कि सरकार ने फ़सल बीमा योजना के तहत एक कम्पनी के माध्य्म से बीमा किया था लेकिन आज़तक किसी भी किसान को मुआवजा नहीं दिया गया है।इसके अलावा यह भी मांग की गई कि जंगली सूअरों की संख्या कम करने के लिए वन विभाग को अभियान चलाना चाहिए। ताकि फसलों को बचाया जा सके। इधर रेंज ऑफिसर कमलाह देशराज ने बताया कि बंदरों को पकड़ने के लिए स्पेशल टीम धरपुर पहुंच गई है। और फसल प्रोटेक्शन के लिए लोगों को गन लाइसेंस भी जारी किए गए हैं इन तरीकों से भी लोग अपनी फसल का बचाव कर सकते हैं।