प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कांगड़ा में लॉकडाउन के विषय में कहा है देश और प्रदेश अति भयंकर दौर से गुजर रहा है। कुछ विपक्षी नेता आलोचना और कठोर भाषा का प्रयोग कर रहे है। कुछ नेता मीठे शब्दों में सुझाव दे रहे हैं, उनका धन्यवाद। एक नेता ने कहा सारे संकट के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जिम्मेवार है। एक नेता ने कहा सरकार झूठ बोल रही है। एक नेता ने कहा सरकार ने जनता को धोखा दिया है। इन शब्दों से प्रदेश का मनोबल टूटता है। उन्होंने कहा कि आज की परिस्थिति में मनोबल को बनाए रखना सबसे जरूरी है।

जहां मनोबल टूट रहा है वहां कई नौजवान आत्महत्या कर रहे हैं।उन्होंने कहा पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर जयराम ठाकुर और केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर सब कुछ कर रहे है। क्या नहीं कर रहे परंतु एक बात सब याद रखें यह संकट मनुष्य इतिहास का सबसे बड़ा संकट है। आवश्यकता इस बात की है कि एकजुट होकर सब इस संकट का मुकाबला करने के लिए जुटें।शांता कुमार ने कहा कि पूरे हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा की स्थिति लगातार खराब हो रही है। लग रहा है अब लाॅकडाउन लगाना ही चाहिए।

मुख्यमंत्री विचार कर ले और देर न करें। एक सुझाव है लाॅकडाउन लगे तो रोज कमा कर खाने वालों की विशेष मदद अवश्य करें।मुख्यमंत्री इसी काम के लिए जनता से दान की अपील करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राहत कोष में एक लाख रुपये पहले दिये है यदि लाॅकडाउन में इस काम के लिए आवश्कता हुई तो वह एक लाख रुपये ओर भेज देंगे। शांता कुमार ने देश व प्रदेश के उन लाखों योद्धाओं को प्रणाम किया है जो जीवन को दाव पर लगा कर मोर्चे पर डटे हुए हैं।