मंडी जिला में आगजनी की इस घटना में एक गऊशाला समेत उसमें बंधी 2 खच्चरों व 7 मवेशियों सहित 9 पशुओं की मौत हो गई है। इसके साथ ही सारा सामान भी जलकर राख हो गया है। घटना उपमंडल चुराह की बनंतर पंचायत के गांव सुदला की है। शनिवार देर रात करीब 12 बजे रणजीत पुत्र अमर सिंह की गोशाला में अचानक आग लग गई। इससे गऊशाला के साथ-साथ उसमें बंधी 2 खच्चरें व 7 अन्य मवेशी जिंदा जल गए। घटना के दौरान उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

इसके साथ ही उसके अंदर रखा सारा सामान राख हो गया। आग लगने का पता चलते ही गऊशाला के मालिक व ग्रामीण आग बुझाने में जुट गए और काफी मशक्कत के बाद करीब 3 बजे तक आग पर काबू पाया गया है लेकिन तब तक सब जल कर राख हो गया था। हालांकि ग्रामीणों द्वारा आसपास के घरों को तो आग लगने से बचा लिया गया। आग किन कारणों से लगी इसका कोई पता नहीं चल पाया है। घटना की सूचना ग्रामीणों द्वारा पुलिस को भी दी गई। सूचना मिलते ही तीसा पुलिस मौके पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया लेकिन तब तक गऊशाला पशुओं सहित पूरी तरह से जल गई थी।

पुलिस द्वारा गऊशाला मालिक के बयान दर्ज किए गए। हालांकि उसने किसी के ऊपर शक जाहिर नहीं किया है। रविवार सुबह पंचायत प्रधान लीला देवी व उपप्रधान खेमराज, सुदला वार्ड सदस्य, काजल मौके पर पहुंचे और घटना का जायजा लिया, साथ ही घटना की सूचना प्रशासन को दी। पंचायत प्रधान लीला देवी ने बताया कि रणजीत की गऊशाला को आग लगने से उसमें बंधी 2 खच्चरें, 3 बैल, 3 गाय व 1 भेड़ सहित 9 पशुओं की मौत हो गई है, जिससे उसे लाखों रुपए का नुक्सान हुआ है। उन्होंने प्रशासन से प्रभावित परिवार की आर्थिक मदद करने की गुहार लगाई है।

उधर, डी.एस.पी. सलूणी शेर सिंह ने बताया कि सुदला में गऊशाला को आग लगने से गऊशाला सहित उसमें बंधे पशु जिंदा जल गए हैं। पुलिस द्वारा मालिक के बयान दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है। एस.डी.एम. चुराह मनीष चौधरी ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही संबंधित पटवारी को मौके पर जाकर नुक्सान के आकलन की रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। रिपोर्ट मिलने के बाद प्रभावित परिवार की आर्थिक मदद की जाएगी।