ज्वालामुखी में भगवान श्रीराम के युग के रामसेतु पत्थर मिले हैं. इन्हें पानी में डालो तो ये डूबते नहीं हैं.क्योंकि रामसेतु के पत्थरों का वर्णन बाल्मीकि रचित

रामायण में मिलता है और इसी वजह से इन्हें देखने के लिए अब एक घर भक्तों का तांता लगा हुआ है.जानकारी के अनुसार, ज्वालामुखी निवासी अशोक कुमार

को यह अलौकिक सौगात हाथ लगी है. अशोक कुमार ने बताया कि उन्होंने अपनी जमीन में खुदाई का काम लगा रखा था. जमीन को खोदते समय एक घड़े

के अंदर दो पत्थर मजदूरों के हाथ लगे.पहले तो इन्होंने इन्हें सामान्य पत्थर समझ एक किनारे पर फेंक दिया. जब उन्होंने दूसरे दिन इन पत्थरों को देखा तो

अलग ही अनुभूति का अहसास हुआ. वैसे देखने में यह पत्थर सामान्य आकार के लग रहे थे फिर भी वह इन पत्थरों को अपने साथ घर ले आए.जानने वाले

पंडित से इनकी जांच करवाई तो पता चला कि यह पत्थर रामसेतु वाले पत्थर हैं. अशोक कुमार ने बताया कि पत्थरों का बजन 6 किलो के करीब है. अशोक के

परिवार ने पूजा स्थान पर एक पानी के भरे बर्तन में इन्हें डालकर रखा है और पूजा भी कर रहे हैं.

अशोक का परिवार और ग्रामीण इसे भगवान राम का आशीर्वाद मानकर भजन कीर्तन कर रहे हैं.भौगोलिक तर्कों से हटकर गांव वाले और अशोक का परिवार

इन पत्थरों को रामसेतु का हिस्सा मान रहे हैं. फिलहाल पत्थरों के दर्शन करने के लिए लोग दूर-दूर से आ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here