मेरिट लिस्ट आने के 20 दिन बाद भी नहीं खुला पीएचडी फीस पोर्टल।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय इकाई ने पिछले कल छात्र मांग को लेकर अधिष्ठाता अध्ययन से मिले। विद्यार्थी परिषद ने इस दौरान प्रशासन से मांग की कि छात्रों से संबंधित इस मांग को जल्द पूरा किया जाए।

वहीं, इकाई सचिव कमलेश ठाकुर ने अपनी मांग को विस्तार से बताते हुए कहा कि पीएचडी में जो एडमिशन हुई हैं, उनकी मेरिट लिस्ट 24 मार्च 2022 को आई थी, लेकिन आज लगभग 20 दिन बीत जाने के बाद भी उनका फीस भरने का पोर्टल आज दिन तक नहीं खोला गया है। कमलेश ने कहा कि इसमें कहीं न कहीं धांधली होने की बू आ रही है।

कमलेश ने विश्विद्यालय प्रशासन पर सवाल उठाते हुए कहा कि फीस पोर्टल खोलने में की जा रही लेट लतिफी कहीं न कहीं कुछ गड़बड़ी की ओर इशारा कर रही है। उन्होंने कहा कि इसमें हो रही देरी का एकमात्र कारण जो हाल फिलहाल में नज़र आ रहा है, वो केवल मात्र अपने चहेतो को पीएचडी में एडमिशन करवाने का नज़र आ रहा है। विश्विद्यालय प्रशासन द्वारा अपने चहेतों का पीएचडी में एडमिशन करवाने के लिए आम छात्रों को तंग किया जा रहा है। कमलेश ने कहा कि आम छात्रों के साथ जो अन्याय विवि प्रशासन कर रहा है उसको विद्यार्थी परिषद बिल्कुल भी सहन नहीं करेगी।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद आशा करती है कि छात्रों से सम्बंधित इस मांग को प्रशासन जल्द से जल्द पूरा करेगा। उन्होंने विश्विद्यालय प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर यह फीस पोर्टल नहीं खोला गया तो आने वाले समय में प्रशासन को विरोध का सामना करना पड़ेगा।