हार से कभी न घबराएं खिलाड़ी, संघर्ष और मेहनत जारी रखें: कुलदीप सिंह पठानिया केसीसीबी अध्यक्ष ने किया अंडर-19 छात्र-छात्राओं की एथलेटिक्स प्रतियोगिता का समापन।

हमीरपुर 25 अक्तूबर। छात्र-छात्राओं की तीन दिवसीय अंडर-19 एथलेटिक्स प्रतियोगिता बुधवार को गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल हमीरपुर में संपन्न हो गई। प्रतियोगिता के समापन अवसर पर कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।
इस अवसर पर पदक विजेताओं और अन्य सभी प्रतिभागियों को बधाई देते हुए कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि खेल के मैदान में हार-जीत चलती रहती है। हमें हार से कभी भी नहीं घबराना चाहिए, बल्कि अपना संघर्ष जारी रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि जीवन में संघर्ष, मेहनत और दृढ़ इच्छाक्ति के बल पर कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू का उदाहरण देते हुए कुलदीप सिंह पठानिया ने बताया कि मेहनत, संघर्ष और दृढ़ इच्छाशक्ति के कारण ही वह हिमाचल प्रदेश के सर्वोच्च पद पर पहुंचे हैं।
कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि सामान्य परिवार से संबंध रखने वाले मुख्यमंत्री आम लोगों के हित में कई सराहनीय निर्णय ले रहे हैं। बरसात के सीजन में प्रदेश में आई भीषण आपदा के पीड़ितों की राहत एवं पुनर्वास के लिए 4500 करोड़ रुपये का पैकेज घोषित करके मुख्यमंत्री ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है। उन्होंने राहत मेनुअल में बदलाव करके मुआवजे की राशि में कई गुणा वृद्धि की है, जिससे आपदा प्रभावितों के पुनर्वास में मदद मिलेगी।
इस अवसर पर उन्होंने विजेता एवं उपविजेता टीमों एवं एथलीटों को पुरस्कृत भी किया। छात्रों के वर्ग में एमपीपीएस मलोटी और सेवन स्टार स्कूल बणी की टीम ने संयुक्त रूप से पहला और ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल हमीरपुर ने दूसरा स्थान हासिल किया। जबकि, सुपर मैगनेट स्कूल के कृशिव राजगुरु को बेस्ट एथलीट घोषित किया गया। छात्राओं के वर्ग में गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल हमीरपुर विजेता और सीनियर सेकेंडरी स्कूल बजरोल की टीम उपविजेता रही। जबकि, गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल हमीरपुर की ऋतिका बेस्ट एथलीट घोषित की गई।
इससे पहले गर्ल्स स्कूल के प्रधानाचार्य विजय गौतम ने मुख्य अतिथि और अन्य अतिथियों का स्वागत किया तथा प्रतियोगिता के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। समापन समारोह में एडीपीईओ सुनील कपिल, अन्य अधिकारी और कांग्रेस के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।