प्रदेश में पुलिस कांस्टेबल परीक्षा का पेपर हो गया था लीक

हिमाचल प्रदेश में 27 मार्च को हुई पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा से पहले ही प्रश्नपत्र (पेपर) लीक हो गया था। तीन अभ्यर्थियों ने 6 से 8 लाख रुपये देकर प्रश्नपत्र और उसके उत्तर पा लिए थे। वे परीक्षा में अप्रत्याशित 70 अंकों के साथ पास हुए। माना जा रहा है कि पेपर किसी प्रिंटिंग प्रेस से लीक हुआ है। पेपर लीक करने वाले आरोपी हरियाणा और दिल्ली से हैं। उधर, तीनों अभ्यर्थी पुलिस हिरासत में हैं।

वहीं कांगड़ा पुलिस ने पेपर लीक की पुष्टि होने के बाद कांगड़ा के गगल थाने में वीरवार देर रात आरोपियों के खिलाफ धारा 420 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। एसपी कांगड़ा खुशहाल चंद शर्मा ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और डीजीपी संजय कुंडू को देर रात ही पूरे मामले से अवगत करवा दिया है।

बता दें कि एसपी ने मामला दर्ज करने की पुष्टि की है। आरोपियों की धरपकड़ के लिए एसपी ने देर रात टीमें गठित कर हरियाणा और दिल्ली भेज दी हैं। एसपी ने बताया कि लिखित परीक्षा देने से पहले तीन युवाओं ने 6 से 8 लाख रुपये देकर प्रश्नपत्र पा लिया था। इन युवाओं को दलालों ने टाइप्ड उत्तर देकर उन्हें रटने के लिए कहा था। पैसे देकर उत्तर रटने की बात अभ्यर्थियों और अभिभावकों ने कबूली है। एसपी ने बताया कि अभ्यर्थियों ने ठाकुर कांशीराम स्कूल चैतड़ू में बनाए केंद्र में पेपर दिए थे। दलालों ने और कितनों को पेपर बेचे हैं, इसकी भी जांच तेज हो गई है।

उन्होंने बताया कि 5 अप्रैल को लिखित परीक्षा का परिणाम निकलने के बाद पास हुए अभ्यर्थियों को पुलिस ने दस्तावेजों की जांच के लिए प्रदेशभर में बुलाया। इसके बाद नियुक्ति होनी थी। दस्तावेजों की जांच के दौरान एसपी कांगड़ा को तीन युवाओं पर शक हुआ। तीनों युवाओं के 90 में से 70 अंक थे। लेकिन दसवीं की कक्षा में उनके अंक 50 फीसदी भी नहीं थे। एसपी ने तीनों युवाओं से अलग-अलग कड़ी पूछताछ की। पुलिस पूछताछ में तीनों युवा फंस गए और उन्होंने माना कि लिखित परीक्षा से पहले ही 6 से 8 लाख रुपये देकर उन्हें टाइप्ड प्रश्नों के उत्तर मिल गए थे। उन्हें उत्तर रटने को कहा गया था।

हिमाचल प्रदेश पुलिस कांस्टेबलों के 1334 पदों के लिए 27 मार्च को भर्ती परीक्षा हुई थी। इनमें 932 पुरुष, 311 महिला कांस्टेबल, 91 पुरुष कांस्टेबल बतौर चालक पदों के लिए 5 अप्रैल 2022 को परिणाम घोषित हुआ। पहले चरण में लिखित परीक्षा का आयोजन प्रदेश में निर्धारित 81 केंद्रों पर किया गया था। लिखित परीक्षा में कांस्टेबल पुरुष के पदों के लिए 60 हजार से अधिक और कांस्टेबल महिला पदों के लिए 14 हजार से अधिक उम्मीदवार शामिल हुए थे।