हाईकोर्ट पहुंचा पुलिस भर्ती पेपर लीक मामला, एडवोकेट विनय शर्मा ने मांगी CBI जांच।

हिमाचल प्रदेश पुलिस कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक मामला अब हाईकोर्ट पहुंच गया है। पेपर लीक मामले की जांच सीबीआई से करवाने को लेकर अधिवक्ता विनय शर्मा की ओर से जनहित याचिका दायर की गई है। इस मामले में बीते दिन मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक और न्यायाधीश संदीप शर्मा की अदालत में सुनवाई हुई।
बातचीत करते एडवोकेट विनय शर्मा

अदालत ने इस मामले में राज्य सरकार को नोटिस जारी कर याचिका पर जवाब मांगा है। इस याचिका पर अगली सुनवाई 26 मई को होगी।
अधिवक्ता विनय शर्मा ने कहा कि प्रदेश में पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर लिखवाया और 5 से 10 लाख में प्रदेश के कई युवाओं को बेचा गया है। यह पेपर कैसे लीक हुआ इसको लेकर कई सवाल उठ खड़े हो रहे हैं। पेपर पुलिस की निगरानी में ही केंद्रों तक पहुंचाया गया था और वहीं से लीक होने की आशंका भी है।

हालांकि सरकार ने पेपर रद्द कर दिया है और इसकी जांच के लिए एसआईटी का गठन भी किया है। पुलिस की निगरानी में पेपर लीक हुआ और पुलिस ही इस मामले की जांच कर रही है। ऐसे में निष्पक्ष जांच नहीं हो सकती है।

विनय शर्मा ने कहा कि पुलिस सिलेक्शन बोर्ड में शामिल अधिकारी को ही SIT में रखा गया है। ऐसे में जांच पर कई सवाल उठ रहे हैं। इसको लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। इस मामले की जांच हाई कोर्ट की निगरानी में सीबीआई से करवाने की मांग की गई है।