ऊँची दुकान फीका पकवान सा रहा प्रधानमंत्री का शिमला दौरा -किरण धांटा

कांग्रेस प्रवक्ता किरण धांटा ने प्रधानमंत्री के शिमला से देश की जनता को गरीब कल्याण सम्मलेन के माध्यम से 2014 के पहले और बाद के भारत की तुलना को ऊँची दुकान फीका पकवान से सम्बोधित किया है। प्रवक्ता ने कहा कि 2014 से पहले जिन नीतियों की घोषणा की गई थी उन को ज़मीनी स्तर पर क्रियाशील किया जाता था परन्तु 2014 के बाद तो नीतियों की केवल घोषणाएं हो रही है और ज़मीनी हकीकत से ये नीतियां कोसो दूरी पर है। आज प्रधानमंत्री नई नई योजनाओं के माध्यम से लोगों का ध्यान भटकाने का काम कर रहे है जब की ज़मीनी हकीकत पर ये योजनाएं असफल हुई है। प्रवक्ता ने कहा कि उज्ज्वला योजना का मकसद गृहणियों की सहायता करना था न की उन की आँखों से महंगाई द्वारा आँसू निकालना। प्रवक्ता ने प्रधानमंत्री से प्रश्न करते हुये पूछा कि क्या गैस सिलेंडर की कीमतें कम हुई है और क्या गरीब जनता महंगा सिलेंडर ख़रीद पा रही है। इन सब का जबाब प्रधानमत्री ने क्यों नहीं दिया। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुये कहा कि वे हिमाचल की जनता का पक्ष प्रधानमत्री के पास रख ही नहीं पाते है क्यूंकि उन्होंने बेरोजगारों,महिलाओं ,किसानों और बागवानों के लिये कोई सहायता ही नहीं मांगी। यदि हिमाचल की जनता को प्रधानमंत्री के आगमन से कोई विशेष लाभ नहीं होता है तो ऐसी डबल इंजन की सरकार का हिमाचल के लोगों के लिये कोई फ़ायदा नहीं है। हिमाचल की जनता जागरूक जनता है और यह जान चुकी है और आने वाले विधानसभा चुनाव में जनता इसका करारा जवाब देगी।