राजनीति के “फीनिक्स” का यूं चले जाना दुखद: रोहित शर्मा

हिमाचल प्रदेश स्टेट बार काउंसिल सदस्य रोहित शर्मा एडवोकेट ने देश के दिग्गज नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम जी के निधन पर शोक प्रकट किया एवं उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए राजनीति के फीनिक्स की उपाधि दी। रोहित शर्मा ने कहा कि फर्श से अर्श पर पहुंचे पंडित सुखराम जी भी विनम्र एवं बहुमुखी प्रतिभा संपन्न व्यक्ति थे । ऐसा करिश्माई व्यक्तित्व जो 13 बार विधायक एवं तीन बार सांसद रहा तथा कभी जीवन में विधायक का चुनाव नहीं हारा।

केंद्र में दो बार राजीव गांधी एवं नरसिम्हा राव सरकार में राज्य मंत्री रहे । जब भारत देश आर्थिक मंदी, महंगाई व बेरोजगारी से जूझ रहा था तब अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से देश में संचार क्रांति लाए व लाखों लोगों को रोजगार मुहैया करवाया। सदा लोगों के दिलों में बसने वाले इस राजनेता की दृढ़ इच्छाशक्ति के चलते ही विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले इस पहाड़ी प्रदेश हिमाचल प्रदेश में संचार क्रांति आई । जिसका फायदा पीढ़ियों तक हर हिमाचली लेता रहेगा। छह दशक तक देश व प्रदेश की राजनीति का सिरमौर रहे पंडित सुखराम जी के देहावसान से हुई भारतवर्ष को अपूर्णीय क्षति की भरपाई असंभव है।