अमृतकाल में अपार अवसरों का लाभ उठाएं, राष्ट्रनिर्माण में भी दें योगदान।

हमीरपुर 28 अक्तूबर। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) हमीरपुर का 14वां दीक्षांत समारोह शनिवार को संस्थान के सभागार में आयोजित किया गया, जिसमें केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण, युवा मामले एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। समारोह में संस्थान के 1265 विद्यार्थियों को डिग्रियां प्रदान की गईं।
इस अवसर पर सभी विद्यार्थियों को बधाई देते हुए अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि आज का यह दिन उनके (विद्यार्थियों के) परिश्रम और समर्पण का प्रतिफल है और अपनी सफलता को सेलिब्रेट करने का अवसर है। उन्होंने कहा कि आज का भारत तेजी से बुलंदियों को छू रहा है तथा विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। भारत के लिए अमृतकाल के अगले 25 वर्ष बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। इसमें युवाओं के लिए अपार अवसर हैं। उन्होंने विद्यार्थियों से आग्रह किया कि वे इन अवसरों का लाभ उठाकर आगे बढ़ें और राष्ट्रªनिर्माण में भी अपना हरसंभव योगदान दें।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत के प्रतिभाशाली युवाओं ने अमेरिका तथा अन्य विकसित देशों में अपनी प्रतिभा का डंका बजाया है और विश्व की कई टॉप कंपनियों के शीर्ष पदों पर पहुंचे हैं। अगर हमारे युवा वहां अच्छा कर सकते हैं तो अपने देश व समाज के लिए भी बहुत कुछ कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज विश्व भारत की ओर एक नई उम्मीद के साथ देख रहा है और इसके सामर्थ्य पर विश्वास कर रहा है। कोरोनाकाल में भारतीय वैज्ञानिकों ने जहां स्वदेशी वैक्सीन तैयार की और इसे विश्व के 157 देशों को उपलब्ध करवाया गया, वहीं भारतीय युवाओं ने भी ‘आपदा में अवसर’ और ‘आत्मनिर्भर भारत’ के मंत्र को आत्मसात करते हुए हजारों स्टार्टअप खड़े कर दिए। इनमें 100 से अधिक स्टार्टअप ने तो यूनीकार्न का दर्जा भी हासिल कर लिया है।
उन्होंने कहा कि आज भारत साइंस एंड टैक्नोलॉजी और स्पेस से लेकर स्पोर्ट्स तक, रक्षा विनिर्माण और इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण से लेकर ग्रीन एनर्जी तक हर सेक्टर में बड़ी उपलब्धियां हासिल कर रहा है। इन क्षेत्रों में एनआईटी जैसे संस्थानों के युवाओं के लिए अपार संभावनाएं हैं।
युवाओं में नशे की समस्या पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एनआईटी जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में इस समस्या के उन्मूलन के लिए बहुत ही कड़े कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसमें लिप्त लोग चाहे कितने भी रसूखदार क्यों न हों, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि एनआईटी हमीरपुर में ढांचागत विकास के लिए करोड़ों रुपये खर्च किए गए हैं। इसे देश-विदेश के प्रतिष्ठित संस्थानों की श्रेणी में स्थापित करना संस्थान प्रबंधन के साथ-साथ प्रत्येक शिक्षक और विद्यार्थी की भी जिम्मेदारी है।
इस अवसर पर संस्थान के निदेशक प्रो. एचएन सूर्यवंशी ने केंद्रीय मंत्री और अन्य अतिथियों का स्वागत किया तथा संस्थान की विभिन्न उपलब्धियों की जानकारी दी। समारोह में संस्थान की कुलसचिव डॉ. अर्चना संतोष ननोटी, अन्य अधिकारी तथा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।