कृषि मंत्री ने कृषि विभाग की पांच और पशुपालन विभाग की छः डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर सेवाओं का ऑनलाइन उद्घाटन किया।

ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज यहां से कृषि विभाग की पांच और पशुपालन विभाग की छः (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) सेवाओं का ऑनलाइन उद्घाटन किया।

इस अवसर पर वीरेंद्र कंवर ने कहा कि कृषि विभाग की पांच सेवाएं जिनमें मुख्यमंत्री नूतन पॉलीहाउस परियोजना, मुख्यमंत्री ग्रीन हाउस नवीनीकरण योजना, मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना, एंटी हेल नेट योजना तथा राज्य कृषि यंत्रीकरण कार्यक्रम और पशुपालन विभाग की छः सेवाएं जिनमें सामान्य बीपीएल के तहत गर्भवती देसी व स्वदेशी गायों के राशन का रख-रखाव, हिम कुक्कुट पालन योजना, कृषक बकरी पालन योजना, एससीएसपी के अन्तर्गत गर्भवती देसी व स्वदेशी गायों के राशन का रख-रखाव, भेड़ प्रजनकों को अनुदानित मेढ़े के प्रावधान की योजना तथा उत्तम पशु पुरस्कार योजना को इसके अन्तर्गत लाया गया है।

उन्होंने कहा कि आवेदक अब इन सेवाओं के लिए हिमाचल ऑनलाइन सेवा (ई-डिस्ट्रिक्ट) पोर्टल https://edistrict.hp.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और उन्हें संबंधित कार्यालय जाने की भी आवश्यकता नहीं है। यह सेवाएं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा एचपीएससीडीसी के माध्यम से विकसित की गई हैं।

उन्होंने कहा कि इन ऑनलाइन सेवाओं के उपरान्त अब आवेदकों को डीबीटी योजना के लिए आवेदन करने कहीं नहीं जाना होगा और एक बार लॉगिन का उपयोग करके कई योजनाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की स्थिति को ऑनलाइन ट्रैक करने की भी सुविधा दी गई है। आवेदक लोकमित्र केंद्र, ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल के माध्यम से अथवा सीधे स्टैंडअलोन बेबसाइट पर भी आवेदन कर सकते हैं। आवेदन के उपरान्त प्रत्येक चरण में सन्देश (एसएमएस) के माध्यम से सूचना प्रदान की जाएगी। पहले आओ पहले पाओ के साथ पारदर्शी अनुमोदन प्रक्रिया, ऑनलाइन भुगतान का विकल्प तथा स्वीकृति और समझौते जैसे महत्त्वपूर्ण दस्तावेज ऑनलाइन डाउनलोड करने की भी सुविधा रहेगी।

उन्होंने कहा कि विभाग के स्तर पर ऑनलाइन आवेदन की समीक्षा, आवेदन के प्रसंस्करण में पारदर्शिता, पहले आओ पहले पाओ आधार पर प्रक्रिया, कागज रहित आवेदन प्रक्रिया सहित रिपोर्टिंग में भी सुविधा रहेगी।

इस अवसर पर प्रधान सचिव (आईटी) रजनीश, सचिव पशुपालन डॉ. अजय कुमार शर्मा, सचिव कृषि राकेश कंवर, कृषि निदेशक एन.के. धीमान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।