मुख्यमंत्री ने परोपकारी गतिविधियों के लिए कम्पीटेंट फाउंडेशन की सराहना की।

रक्तदान, पीड़ित मानवता की सबसे बड़ी सेवा है क्योंकि समय पर रक्त मिलने से व्यक्ति को नया जीवनदान मिलता है। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने यह बात आज हमीरपुर जिला के नादौन से कम्पीटेंट फाउंडेशन द्वारा देशभर में एक साथ आयोजित 50 रक्तदान शिविरों के अवसर पर वेबनार को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित करते हुए कही।
उन्होंने छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल स्वर्गीय बलराम जी दास टंडन की अध्यक्षता में हेल्प एवर हर्ट नेवर के आदर्श वाक्य के साथ अक्तूबर 2006 में स्थापित कम्पीटेंट फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि रक्तदान के माध्यम से लोगों का अमूल्य जीवन बचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह मानवता का प्रतीक है जो लोगों को जाति, पंथ और धर्म के बावजूद एकजुट करता है। उन्होंने कहा कि 17 से 66 वर्ष आयुवर्ग के सभी पात्र व्यक्ति रक्तदान कर सकते हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि रक्तदान के अनेक लाभ हैं क्योंकि विभिन्न कारणों जैसे बीमारी या दुर्घटना की स्थिति में व्यक्ति को रक्त की आवश्यकता होती है। रक्तदान करने से हम व्यक्ति की गंभीर स्थिति से उबरने में सहायता करते हैं। दूसरे अर्थोें में रक्तदान के माध्यम से न केवल हम व्यक्ति विशेष की सहायता करते हैं बल्कि समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को भी निभाते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि रक्तदान, रक्तदाता के लिए भी बहुत लाभकारी है क्योंकि इससे रक्तदाता के शरीर में नई कोशिकाएं उत्पन्न होती हैं। उन्होंने कहा कि छात्र जीवन के दौरान उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों की सहायता के लिए रक्तदान शिविर आयोजित किए थे। उन्होंने कहा कि फाउंडेशन द्वारा हनुमान जयंती के अवसर पर देशभर की 50 स्थानों में रक्तदान शिविर आयोजित किए जा रहे हैं जो वास्तव में एक सराहनीय प्रयास है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान फाउंडेशन ने जरूरतमंद लोगों की सहायता में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
जय राम ठाकुर ने हिमाचल, चंडीगढ़, हरियाणा, पंजाब और दिल्ली के विभिन्न स्थानों में आयोजित रक्तदान शिविरों के आयोजकों के साथ संवाद भी किया।
वरिष्ठ भाजपा नेता तथा प्रदेश भाजपा प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने देश के विभिन्न भागों में रक्तदान शिविर आयोजित करने के कम्पीटेंट फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना की उन्होंने कहा कि रक्तदान महादान है और इससे जरूरतमंद लोगों की जान बचाई जा सकती है।
फाउंडेशन के अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि फाउंडेशन द्वारा समाज के कमजोर वर्गों की सहायता के लिए कई कार्य किए जा रहे हैं। फाउंडेशन द्वारा साप्ताहिक लंगर, चिकित्सा और रक्तदान शिविर, निःशुल्क शिक्षा, 50 बिस्तरों की क्षमता वाले मिनी कोविड केयर सेन्टर की स्थापना, सरकारी विद्यालय के दसवी कक्षा के कमजोर वर्गों के 300 विद्यार्थियों को स्कूल किट वितरित करने, प्रेरणादायक विचार, कहानियां तथा धर्मार्थ के उद्ेदश्य के लिए पुस्तकों का प्रकाशन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कम्पीटेंट फाउंडेशन वर्ष में दो बार हनुमान जयंती और 10 दिसम्बर को रक्तदान शिविर आयोजित करता है और प्रति शिविर 150 यूनिट रक्त एकत्र किया जाता है। फाउंडेशन में 68 रक्तदान शिविर आयोजित किए हैं और अब तक 10548 यूनिट रक्त एकत्र किया गया है।