देवनी पंचायत घर के रात 10:30 बजे खुले हुए थे दरवाजे, फिर पहुंची उप प्रधान।

सोमवार की रात करीब साढ़े 10 बजे देवनी पंचायत घर खुला हुआ था। इसकी जानकारी मिलते ही पंचायत की उप प्रधान शबनम बेगम ने दबिश दे दी। आरोप है कि पंचायत घर में नरेश नाम का बाहरी व्यक्ति मौजूद था, जो पंचायत के मामलों में दखलंदाजी करता है।

पंचायत सचिव पर भी बाहरी व्यक्तियों को संरक्षण देने का आरोप लगा है। पंचायत उप प्रधान ने डीआरडीए (DRDA) के परियोजना अधिकारी को लिखे शिकायत पत्र में कहा कि उसे भी देख लेने की धमकी दी गई है।

सबूत के मकसद से उप प्रधान द्वारा एक वीडियो भी बनाया गया है। पंचायत उप प्रधान का ये भी आरोप है कि रात के वक्त सचिव की मौजूदगी में रिकाॅर्ड से छेड़छाड़ की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता। उनका कहना था कि जब वो मौके पर पहुंची तो उस समय हरियाणा की गाड़ी (HR02AF-1503) भी मौके पर मौजूद थी।

उप प्रधान का कहना है कि पंचायत सचिव मेडिकल लीव पर हैं। बावजूद इसके रात के वक्त पंचायत घर आने की वजह नहीं बता पाया। उप प्रधान ने कहा कि नरेश का ये तर्क था कि उसकी पत्नी प्रधान है। उप प्रधान ने कड़ी कार्रवाई की मांग की है।