पति अवैध संबंध में बन रहा था रोड़ा, पत्नी ने सुपारी देकर कराई हत्या, डरावनी है कहानी।

राजस्थान के बारां से हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां अवैध प्रेम-प्रसंग में रोड़ा बन रहे पति की पत्नी ने साचिश रचकर हत्या करवा दी है। पत्नी ने अपने पति की हत्या के लिए सुपारी देकर एक लाख रुपये में सौदा किया था। फिलहाल पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए पत्नी समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा है कि इस मामले में जांच और आगे की कार्रवाई जारी है। आइए जानते हैं हत्या के इस हैरान कर देने वाले मामले के बारे में सबकुछ।

मृत अवस्था में मिला था पति

दरअसल, बीते 24 जून को बारां के छीपाबड़ौद के बजरंग नगर के रहने वाले आशिक अहमद ने अपने भाई हकीम खान की हत्या का मामला दर्ज कराया था। उसने बताया था कि उसका बड़ा भाई अपनी पत्नी व बच्चों के साथ रहता था। रात 12 बजे के करीब भाई की मौत की जानकारी मिलने पर वह परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मौके पर पहुंचे तो हकीम खान मकान के बाहर मृत अवस्था में पड़ा था और पीछे सिर से खून बह रहा था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामला दर्ज कर लिया था।

किराएदार के साथ महिला का अफेयर

मृतक हकीम खान के मकान में 7-8 महीने से फारुक हुसैन किराए पर रहता था। फारुक हुसैन और मृतक हकीम खान की पत्नी रईसा बानो के बीच प्रेम संबंध शुरू हो गया। इसी दौरान रईसा ने अपने नाम की करीब डेढ बीघा जमीन तैंतीस लाख रुपये में बेच दी। उसके प्रेमी फारुक हुसैन को इन पैसों के कारण लालच आ गया। रईसा बानो भी आजाद होकर किरायेदार फारुक हुसैन के साथ रहना चाहती थी। इस कारण प्रेम संबंध में रोड़ा बन रहे पति हकीम खान को रास्ते से हटाने के लिए पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर साजिश रची।

ऐसे हुई हत्या की प्लानिंग

रईसा बानो व उसके प्रेमी फारुक ने हकीम खान की हत्या के लिए रईसा के ही भतीजे आशिफ खान व भाई के दामाद रिजवान खान के साथ 3 लाख में हत्या का सौदा तय किया था। पहले रईसा 1 लाख के लिए ही तैयार हुई लेकिन सुपारी लेने वाले नहीं माने। इसके बाद रईसा ने हकीम खान का बीमा करवाने के बाद हत्या का प्लान बनाया ताकि बीमा की एवज में मृतक की हत्या पर पैसे मिल जायेंगे। इन पैसों में से हत्यारों को पैसे भी दे देंगे और बाकी के पैसे बचा लेंगे।

शुरू में सफल नहीं हुए आरोपी

पहले हकीम खां की हत्या करके कुंए में फेंकने की योजना बनी लेकिन साजिश सफल नहीं हुई। इसके बाद रईसा बानो व उसके प्रेमी फारुक हुसैन ने हकीम खान की हत्या करने के लिए आशिफ खान व रिजवान खान को एक लाख रुपये देना तय किया। फिर चारों ने हकीम खान की हत्या करने के लिए 22 जून की रात्रि को चुना था, लेकिन इस दिन यह चारों हकीम खान की हत्या करने में सफल नहीं हुए।

ऐसे की हत्या

23 जून की रात फारुक व रईसा ने आशिफ खान व रिजवान खान को हकीम खान की हत्या करने के लिए घर बुलाया। उस दिन शाम के समय फारुक अपने घर चला गया ताकि उस पर हकीम खान की हत्या का कोई शक नहीं करे। फिर शाम को 9 बजे के करीब आशिफ व रिजवान घर आए तब हकीम छत पर सो रहा था। इसके बाद रईसा बानो, आशिफ खान, रिजवान खान ने हकीम खां की गला घोंटकर हत्या कर दी और लाश को छत से मकान के उपर से नीचे दीवार के पास फेंक दिया। आपको बता दें कि पुलिस ने इस मामले में रईसा बानो, उसके प्रेमी फारुक हुसैन, आशिफ खान व रिजवान खान को गिरफ्तार कर लिया है।