हरिद्वार कुंभ से पहले मकर संक्रांति स्नान के रूप में पुलिस की पहली परीक्षा होने जा रही है। पुलिस मकर संक्रांति पर पांच से दस लाख की भीड़ जुटने की संभावना जता रही है। डीजीपी अशोक कुमार के मुताबिक मकर संक्रांति पर प्रतिवर्ष ही लाखों की भीड़ स्नान के लिए हरिद्वार में जुटती है। इस साल चूंकि कुंभ भी है, इसलिए कोरोना के बावजूद मकर संक्रांति पर ठीक ठाक भीड़ जुटने की उम्मीद है।

राज्य सरकार बर्ड फ्लू से निपटने के लिए पूरी तरह से…

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक अनुमान पांच से दस लाख तक श्रद्धालुओं के जुटने की है। इसके लिए केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बलों और मेला पुलिस को लगाकर करीब ढाई हजार फोर्स की तैनाती की जा रही है। कुंभ मेला के लिए केंद्रीय बलों की तैनाती 10 जनवरी से शुरू हो जाएगी। इस बीच शुक्रवार को डीजीपी खुद हरिद्वार और ऋषिकेश में पुलिस, प्रशासन, साधु संतों, व्यापारियों और आम लोगों से भी कुंभ तैयारियों पर चर्चा करेंगे।

पूछताछ के लिए पुलिस ने किया था तलब, बहन रंगोली के…

प्रथम चरण में मेला पुलिस को वैक्सीन
इस बीच कोरोना टीकाकरण प्रारंभ होने की स्थिति में पुलिस मुख्यालय प्रथम चरण में कुंभ मेला ड्यूटी देने वाली फोर्स को वैक्सीन दिए जाने की पैरवी कर रहा है। पुलिस मुख्यालय के मुताबिक कुंभ के मुख्य शाही स्नान मार्च-अप्रैल में हैं। इसी दौरान असली भीड़ जुटती है। इसलिए तब तक कुंभ ड़यूटी दे रही फोर्स को वैक्सीन देकर सुरक्षा कवच तैयार कर लिया जाएगा। डीजीपी ने आम लोगों से भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है।