झूठ और फरेब की राजनीति करने वालों को हमीरपुर की जनता देगी जवाब :आशीष शर्मा।

विधानसभा क्षेत्र सदर से भाजपा उम्मीदवार आशीष शर्मा ने अपने जन आशीर्वाद अभियान के तहत
मंगलवार को ग्राम केंद्र डिडवी टिक्कर और ताल में नुक्कड़  सभाओं का आयोजन कर जनता का आशीर्वाद लिया।
इस दौरान उन्होंने कहा कि हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता से मिल रहे भरपूर आशीर्वाद को पाकर वह गदगद हैं और यही झूठ और फरेब की राजनीति करने वालों को हमीरपुर की जनता का जवाब है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने जिला के तीन विधायकों समेत 9 विधायकों को नहीं चला सके और सत्ता के नशे में चूर रहे। अब वह जनता से झूठ बोलकर हम पर झूठे केस करवा कर लोगों को बरगलाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन जनता सब कुछ जानती है और इसका जवाब भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में मतदान कर देगी। उन्होंने कहा कि हालात यह है कि कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी को चुनाव प्रचार के लिए कार्यकर्ता तक नहीं मिल रहे हैं और सहारनपुर, जम्मू व हरियाणा से लोग बुलाकर प्रचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि युवाओं को एक लाख नौकरियां देने का वायदा कर सत्ता में आई कांग्रेस सरकार अब बेरोजगारी के मुद्दे पर कुछ नहीं कहती है न ही हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी बेरोजगारी के मुद्दे पर कोई बयान देते हैं।
 *एक साल में एक लाख नौकरियों के कहां गए जुमले*
 उन्होंने बताया की इस सरकार में कभी भी युवाओं, बेरोजगारों की आवाज को नहीं उठाते हैं। इन लोगों ने रोजगार तो क्या देना है, लेकिन हमारी फर्म में काम करने वाले 300 से अधिक लोगों के परिवारों के चूल्हे भी उन्होंने बंद करवा दिए हैं। कांग्रेस प्रत्याशी दुष्प्रचार करने में माहिर हैं और तरह-तरह के आरोप लगाते रहते हैं। वह सरकार की उपलब्धियां पर चुनाव लड़ने की बजाय महज आशीष शर्मा के ऊपर झूठे आरोप लगाकर चुनाव लड़ रहे हैं। आशीष शर्मा लगातार 5 सालों से हमीरपुर की जनता के बीच में है और उनका चरित्र जनता जानती है। जनता को किसी से भी प्रमाण लेने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उन्हें पता है कि उनका बेटा हमेशा से उनकी सेवा में निस्वार्थ भाव से डटा हुआ है।
अगर इस्तीफा देकर चुनाव लड़ने की नौबत आई है तो वह भी अपनी देवतुल्य जनता के हित के लिए ही लिया।
इस दौरान उनके साथ भोरंज विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक कमलेश कुमारी, भाजपा मंडल महामंत्री सुरेश सोनी, सेक्टर प्रभारी राजकुमारी, जिला परिषद सदस्य मनु बाला सहित अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।