हिमाचल वासियों ने लंदन में मनाया आजादी का अमृत महोत्सव।

लन्दन में भारतीय उच्चायोग द्वारा अप्रवासी भारतीयों के संयुक्त तत्वाधान में हिमाचलियों ने आज़ादी के अमृत महोत्सव में नवनट केंद्र लन्दन में अपनी समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर की झलक दिखाई
। लंदन में आजादी का अमृत महोत्सव समारोह के इस संस्करण में स्मेडफन और ब्रिटिश हिमाचली सोसाइटी की टीम द्वारा प्रस्तुत नाटी नृत्य इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम का हिस्सा था, और दर्शकों द्वारा खूब सराहा गया। कई लोगों की आंखों में आंसू के साथ दर्शकों ने प्रदर्शन ने दिल को छुआ। प्रदर्शन की शुरुआत देवता को श्रद्धांजलि के साथ हुई, इसके बाद हिमाचली संस्कृति, स्वतंत्रता सेनानियों, सैनिकों और उनकी भावनाओं को श्रद्धांजलि, हमारे तिरगा को सलामी के साथ समाप्त किया गया। देवता पालकी करनाल, ड्रम, अमर जवान स्मारक को विशेष रूप से स्मैडफन ग्रुप के प्रदर्शन के लिए हस्तनिर्मित किया गया था। इस दौरान जो कार्यक्रम हुए उसमें भाग लेने वाले भारतीयों में
यादविन्द्र देवी-मंडी , अनिल चंदेल शिमला, इंदरपाल ओहरी चंदेल (स्मैडफन).-लंदन, विजयेन्द्र ठाकुर ( बिलासपुर), सरिता ठाकुर (बिलासपुर), हर्षवर्धन मेहता (शिमला) शामिल हुए। लंदन में रह रहे विजेंद्र ठाकुर पुत्र सुरजन कुमार और मीरा ठाकुर गांव ज्योर तहसील श्री नैनादेवी और उनकी पत्नी सरिता ठाकुर पुत्री भाग सिंह गांव स्वाहण तहसील श्री नैना देवी ने बताया कि हम बेहद भाग्यशाली हैं कि हमें अपनी हिमाचली संस्कृति का प्रदर्शन करने और हिमाचल के बारे में जागरूकता फैलाने का अवसर मिला। वहां उपस्थित दर्शकों ने नृत्य और वेशभूषा की अत्यधिक सराहना की।