नौणी विश्वविद्यालय के भ्रष्ट कुलपति को सेवा विस्तार देकर भ्रष्टाचारियों का संरक्षण कर रही प्रदेश सरकार:एबीवीपी

05 अप्रैल 2022- अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के कार्यकर्ताओं द्वारा आज दोपहर 12 बजे उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया गया | इस धरने प्रदर्शन के माध्यम से विद्यार्थी परिषद ने मांग की कि प्रदेश सरकार द्वारा नौणी विवि के भ्रष्ट कुलपति को 1साल का जो सेवा विस्तार प्रदान किया गया है उस निर्णय को प्रदेश सरकार तुरंत प्रभाव से निरस्त करे |

कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए प्रान्त सह मंत्री विक्रांत चौहान ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा नौणी विश्वविद्यालय के भ्रष्ट कुलपति को सेवा विस्तार देने के निर्णय का कड़ा विरोध करती है।

उन्होंने कहा कि “नौणी विश्वविद्यालय जैसे प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान के कुलपति द्वारा जिस तरह पिछले कुछ वर्षों में धांधलियां की गई व नियमों को ताक पर रखकर मनमाने तरीके से बैकडोर भर्तियां की गई यह सीधे रुप से वहां के कुलपति की भ्रष्टाचार में संलिप्तता को दर्शाता है। ऐसे भ्रष्ट कुलपति को सेवा विस्तार न दिए जाने की मांग कुछ दिन पूर्व विद्यार्थी परिषद द्वारा की गई थी।

परन्तु जहां प्रदेश सरकार को ऐसे भ्रष्टाचारी अधिकारियों के खिलाफ जांच करते हुए कार्रवाई करनी चाहिए थी वहां ऐसे अधिकारियों को अतिरिक्त सेवा विस्तार देना प्रदेश सरकार की शिक्षा के प्रति असंवेदनशीलता को दर्शाता है। यह सीधे रुप से स्पष्ट करता है की प्रदेश सरकार हिमाचल प्रदेश में ऐसे भ्रष्टाचारियों को सरंक्षण देने का कार्य कर रही है।

उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद प्रदेश सरकार के इस निर्णय का कड़े शब्दो में विरोध करती है।

विक्रांत ने कहा कि आने वाले समय में अगर प्रदेश सरकार इस भ्रष्ट कुलपति को पद से बर्खास्त नहीं करती है तो विद्यार्थी परिषद प्रदेश सरकार के इस निर्णय के खिलाफ छात्रों को लामबंद करते हुए उग्र आंदोलन करेगी, जिसके लिए केवल और केवल प्रदेश सरकार जिम्मेवार रहेगी |

विक्रांत ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद शिक्षा क्षेत्र की गुणवत्ता व शिक्षा क्षेत्र को भ्रष्ट अधिकारियों से मुक्त करवाने के लिए प्रतिबद्ध है।